भारत सरकार ने सुकन्या समृद्धि योजना के ब्याज दरों में ताजगी का ऐलान किया है। नई दिल्लीः 2023-24 के वित्तीय साल के लिए 8.2 प्रतिशत की बढ़ोतरी करके योजना को और भी आकर्षक बनाया गया है।

योजना के लाभ: शादी और पढ़ाई के लिए बढ़ी राशि

जो विभिन्न समयांतरों पर जमा की गई राशियों पर बढ़ेगा ब्याज, इससे योजना से जुड़े लोगों को अधिक लाभ होगा। 1 जनवरी 2024 से 31 मार्च 2024 तक सेविंग डिपॉजिट पर 4 प्रतिशत, 1 साल के डिपॉजिट पर 6.9 प्रतिशत, और 5 साल के डिपॉजिट पर 7.5 प्रतिशत का ब्याज मिलेगा।

अन्य योजनाएं: सीनियर सिटीजन सेविंग स्कीम और पीपीएफ

इसके अलावा, सीनियर सिटीजन सेविंग स्कीम पर 8.2 प्रतिशत का ब्याज और पोस्ट ऑफिस की मंथली इनकम अकाउंट स्कीम पर 7.4 प्रतिशत ब्याज देने से सरकार ने सभी वर्गों को समर्थन प्रदान किया है।

पीपीएफ: निवेशकों को मिला मायूसी

पब्लिक प्रविडेंट फंड (पीपीएफ) में कोई बदलाव नहीं किया गया है, जो निवेशकों के लिए खुशखबरी है। इसमें 7.1 प्रतिशत ब्याज दर स्थिर रहेगी, लेकिन निवेशकों को समर्थन बनाए रखने के लिए योजना चलाई जा रही है।

साकारात्मक परिणाम: योजना से जुड़े सवाल-जवाब

  1. क्या सुकन्या समृद्धि योजना में ब्याज स्थिर रहेगा?
    • हाँ, सरकार ने योजना के ब्याज दरों में इजाफा करके स्थिरता बनाए रखी है।
  2. कैसे पीपीएफ से जुड़े निवेशकों को योजना से लाभ होगा?
    • पीपीएफ में कोई बदलाव नहीं हुआ है, लेकिन सरकार योजना के माध्यम से निवेशकों को समर्थन प्रदान कर रही है।
  3. क्या सीनियर सिटीजन सेविंग स्कीम में ब्याज बढ़ा है?
    • हाँ, इस तिमाही में सीनियर सिटीजन सेविंग स्कीम पर ब्याज में इजाफा किया गया है, और अब यह 8.2 प्रतिशत है।

समापन: योजना से जुड़े लाखों निवेशकों के लिए यह एक सुनहरा अवसर है। नई बदलावों और इजाफे के साथ, यह योजना बेटियों के भविष्य को और भी उज्जवल बना रही है।

Recent Posts