देश की सरकारी तेल कंपनियों ने 12 फरवरी 2024 के लिए पेट्रोल और डीजल की ताजा कीमतें जारी कर दी हैं। पिछले कुछ दिनों से पेट्रोल और डीजल की कीमतें स्थिर बनी हुई हैं और आज भी इनमें कोई बदलाव नहीं हुआ है।

यह सच है कि पेट्रोल-डीजल की कीमतें आम आदमी के जीवन को प्रभावित करती हैं।

यहां कुछ उदाहरण दिए गए हैं:

  • परिवहन: पेट्रोल और डीजल की कीमतें बढ़ने से परिवहन का खर्च बढ़ जाता है, जिससे किराया, भोजन और अन्य वस्तुओं की कीमतें भी बढ़ जाती हैं।
  • कृषि: किसानों को सिंचाई, कृषि उपकरणों और उर्वरक के लिए डीजल की आवश्यकता होती है। डीजल की कीमतें बढ़ने से कृषि उत्पादन की लागत बढ़ जाती है, जिससे किसानों की आय कम हो जाती है।
  • उद्योग: कई उद्योगों में पेट्रोल और डीजल का उपयोग कच्चे माल और उत्पादों के परिवहन के लिए किया जाता है। पेट्रोल और डीजल की कीमतें बढ़ने से उत्पादन की लागत बढ़ जाती है, जिससे उत्पादों की कीमतें भी बढ़ जाती हैं।

यह जानना महत्वपूर्ण है कि पेट्रोल-डीजल की कीमतें कई कारकों से प्रभावित होती हैं, जिनमें शामिल हैं:

  • अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमतें: भारत कच्चे तेल का आयात करता है, इसलिए अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमतें बढ़ने से पेट्रोल और डीजल की कीमतें भी बढ़ जाती हैं।
  • अमेरिकी डॉलर के मुकाबले रुपये का मूल्य: रुपये का मूल्य कमजोर होने से पेट्रोल और डीजल की आयातित कीमतें बढ़ जाती हैं, जिससे इनकी कीमतें भी बढ़ जाती हैं।
  • भारत सरकार द्वारा लगाए गए कर: भारत सरकार पेट्रोल और डीजल पर उत्पाद शुल्क और वैट लगाती है। इन करों में वृद्धि से पेट्रोल और डीजल की कीमतें भी बढ़ जाती हैं।
  • राज्य सरकार द्वारा लगाए गए वैट: राज्य सरकारें भी पेट्रोल और डीजल पर वैट लगाती हैं। वैट में वृद्धि से पेट्रोल और डीजल की कीमतें भी बढ़ जाती हैं।
  • तेल कंपनियों की मार्केटिंग लागत: तेल कंपनियों की मार्केटिंग लागत में भी पेट्रोल और डीजल की कीमतें शामिल होती हैं।

यह जानना भी महत्वपूर्ण है कि आप पेट्रोल-डीजल की कीमतों को कम करने के लिए कुछ उपाय कर सकते हैं:

  • सार्वजनिक परिवहन का उपयोग करें: यदि संभव हो तो, कार चलाने के बजाय सार्वजनिक परिवहन का उपयोग करें। इससे आप पेट्रोल और डीजल पर पैसे बचा सकते हैं।
  • कारपूलिंग करें: यदि आपको कार से जाना है, तो कारपूलिंग करें। इससे आप पेट्रोल और डीजल का खर्च दूसरों के साथ साझा कर सकते हैं।
  • अपनी कार का रखरखाव करें: अपनी कार का नियमित रूप से रखरखाव करवाएं। इससे आपकी कार का माइलेज बढ़ जाएगा, जिससे आप पेट्रोल और डीजल पर पैसे बचा सकते हैं।
  • इंधन-कुशल कार खरीदें: यदि आप नई कार खरीद रहे हैं, तो इंधन-कुशल कार खरीदें। इससे आप पेट्रोल और डीजल पर पैसे बचा सकते हैं

Recent Posts