मोदी सरकार ने गरीब परिवारों को राहत पहुंचाने के लिए आने वाले दिनों में रसोई गैस सिलेंडर की कीमतों पर ध्यान देने का विचार किया है। पिछले साल भी मोदी सरकार ने अगस्त महीने में इस क्षेत्र में 200 रुपये की कमी की थी, जिससे प्रधानमंत्री उज्जवला योजना के लाभार्थियों को 400 रुपये की सब्सिडी मिलने शुरू हुई।

उज्जवला योजना लाभार्थियों के लिए सांविदानिक बदलाव: उज्जवला योजना के अंतर्गत दिल्ली में लाभार्थियों को मिल रहे हैं 14.4 किलोग्राम के LPG सिलेंडर के लिए 603 रुपये के दर पर। इस स्कीम से हुई सब्सिडी के बाद, यह दर आम लोगों के लिए बहुत ही सस्ती हो गई है, जबकि बिना सब्सिडी वाले सिलेंडर की कीमत अभी 1200 रुपये के आसपास है।

देशभर में विभिन्न शहरों में बदलती LPG की कीमतें: अनुसंधान के अनुसार, बिना सब्सिडी वाले LPG सिलेंडर की कीमत लखनऊ में 1140 रुपये, दिल्ली में 1103 रुपये, पटना में 1201 रुपये, जयपुर में 1106 रुपये, अहमदाबाद में 1110 रुपये और मुंबई में 1102 रुपये है। यह कीमतें हमारे पड़ोसी मुल्क पाकिस्तान, नेपाल, बांग्लादेश और श्रीलंका से काफी कम हैं।

चुनावी वायदे और राज्यसभा में बदलती चर्चाएं: हाल ही के मध्य प्रदेश, राजस्थान, और छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनावों में बीजेपी ने सिलेंडर की कीमतें 500 रुपये करने का वायदा किया था, लेकिन इसे अभी तक अमल में नहीं लिया गया है। इसके बावजूद, लोकसभा चुनाव के आसपास बहुत जल्द ही गैस सिलेंडर की कीमतों में कमी की चर्चा हो रही है।

योजनाएं और सब्सिडी की बढ़ती संख्या: देश में इस समय एलपीजी उपभोक्ताओं की संख्या तकरीबन 33 करोड़ के आसपास है, और पिछले साल ही केंद्र सरकार ने साल 2025-26 तक 75 लाख एलपीजी कनेक्शन जारी करने की योजना को मंजूरी दी थी।

राज्यसभा की चर्चाएं और सरकार के जवाब: कई राज्य सरकारें ने भी अपने क्षेत्र में सब्सिडी के अलावा भी एलपीजी पर सब्सिडी देने का निर्णय लिया है। उत्तर प्रदेश की सरकार ने पिछले साल ही दिवाली में 1.75 करोड़ परिवारों को साल में दो बार घरेलू सिलेंडर मुफ्त देने का ऐलान किया था।

नए सुधार और आगे की योजनाएं: राजस्थान चुनावों में बीजेपी ने चुनाव प्रचारों में एलपीजी सिलेंडर 450 रुपये में देने की बात की थी, जो अभी तक अमल में नहीं आयी है। लेकिन यह चर्चा करने के लिए तैयार है कि कैसे सरकार लोगों को आर्थिक राहत पहुंचा सकती है।

Recent Posts