आजकल खेती के जरिए किसान काफी मोटी कमाई कर रहे हैं। अगर आप भी एक्स्ट्रा कमाई के लिए कोई खेती करने की सोच रहे हैं तो आज हम आपको एक ऐसी खेती के बारे में बताएंगे, जिसके जरिए आप अच्छा मुनाफा कमा सकते हैं। पिछले कुछ सालों में किसानों का रुझान मशरूम की खेती की तरफ काफी बढ़ रहा है। वैसे तो मार्केट में मशरूम की कई किस्में मिलती हैं, लेकिन दूधिया मशरूम की खेती के जरिए आप अच्छा मुनाफा कमा सकते हैं।

दूधिया मशरूम की खेती का महत्व

दूधिया मशरूम को मिल्की मशरूम के नाम से भी जाना जाता है। इसमें कई तरह के विटामिन, प्रोटीन और खनिज होते हैं। यह एक पौष्टिक और स्वादिष्ट मशरूम है। दूधिया मशरूम में प्रोटीन की मात्रा काफी अधिक होती है। यह शरीर में प्रोटीन की कमी को पूरा करने में मदद करता है। दूधिया मशरूम में विटामिन-डी भी होता है, जो हड्डियों के लिए फायदेमंद होता है। दूधिया मशरूम में एंटीऑक्सीडेंट भी होते हैं, जो शरीर को कई तरह के रोगों से बचाने में मदद करते हैं।

दूधिया मशरूम की खेती की विशेषताएं

  • कम जगह में होती है खेती
  • कम लागत में होती है खेती
  • अधिक मुनाफा मिलता है
  • लंबे समय तक स्टोर किया जा सकता है

दूधिया मशरूम की खेती के लिए आवश्यक तापमान और नमी

दूधिया मशरूम की खेती के लिए 25 से 35 डिग्री सेल्सियस का तापमान और 80 से 90% की नमी आवश्यक होती है। अगर तापमान और नमी का स्तर सही नहीं होगा तो मशरूम नहीं लगेंगे।

दूधिया मशरूम की खेती के लिए आवश्यक सामग्री

  • सूखे अवशेष (भूसा, पुआल, ज्वार, गन्ने की खोई, बाजरा, मक्का आदि)
  • मशरूम बीज
  • पालीथीन बैग
  • छुरी

दूधिया मशरूम की खेती की प्रक्रिया

  1. सबसे पहले एक कमरे को तैयार करें। इस कमरे में साफ-सफाई का खास ध्यान रखें।
  2. कमरे में 25 से 35 डिग्री सेल्सियस का तापमान और 80 से 90% की नमी बनाए रखें।
  3. अब सूखे अवशेषों को तैयार करें। इसके लिए सूखे अवशेषों को 10-12 घंटे के लिए गर्म पानी में भिगो दें।
  4. अब इस मिश्रण को अच्छी तरह से मिक्स कर लें।
  5. इस मिश्रण को पालीथीन बैग में भरें।
  6. बैग को 4-5 जगहों पर छेद कर दें।
  7. अब इस बैग को कमरे में रख दें।
  8. 10-15 दिनों में मशरूम लग जाएंगे।

दूधिया मशरूम की कटाई

दूधिया मशरूम जब बन जाते हैं तो उसके ऊपर बनी हुई टोपी करीब 5 से 6 सेमी मोटी होनी चाहिए। उसके बाद में उसको घुमाकर तोड़ लें। इसके बाद में आपको तने के मिट्टी लगे हुए नीचे वाले हिस्से को काट लें।

दूधिया मशरूम की लागत और मुनाफा

दूधिया मशरूम की खेती में प्रति किलोग्राम की लागत 10 से 15 रुपये के आसपास बैठती है। वहीं, मार्केट में मशरूम की कीमत 150 से 250 रुपये प्रति किलो तक होगी। इस हिसाब से किसानों की लागत काफी कम होती है और मुनाफा काफी ज्यादा होता है।

दूधिया मशरूम की खेती के लिए कुछ सुझाव

  • मशरूम की खेती के लिए सही तापमान और नमी का स्तर बनाए रखें।
  • मशरूम के बीज को अच्छी तरह से मिलाएं।
  • बैग में छेद करने से मशरूम को सांस लेने में मदद मिलती है।
  • मशरूम को समय पर काट लें।

Recent Posts