नई दिल्ली: सेंचुरियन में भारत बनाम दक्षिण अफ्रीका सीरीज का पहला टेस्ट ने भारतीय टीम को नीचे गिरा दिया, जब उन्हें पारी और 32 रनों से करारी हार का सामना करना पड़ा। इस हार के साथ, कई रिकॉर्ड बने हैं, जो भारत के लिए नकारात्मक और शर्मनाक हैं। आइए इस हार के पीछे छुपे 7 रिकॉर्डों की एक गहरी जांच करें जो सेंचुरियन मैच में भारतीय टीम के संघर्षों की कहानी को बयान करते हैं:

1. दक्षिण अफ्रीका में भारत की सबसे बड़ी हार: यह हार दक्षिण अफ्रीका में भारत की सबसे महत्वपूर्ण हार है, जिसने 2010 के पिछले रिकॉर्ड को पीछे छोड़ दिया था, जब भारत एक पारी और 25 रनों से हार गया था।

2. रोहित शर्मा की कप्तानी में पहली पारी के अंतर से हार: रोहित शर्मा की कप्तानी में यह पहली बार है जब भारत को पारी के अंतर से हार का सामना करना पड़ा है।

3. WTC हार में विराट कोहली का बल्लेबाजी रिकॉर्ड: वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप (डब्ल्यूटीसी) के इतिहास में भारत की हार में सबसे ज्यादा रन बनाने का रिकॉर्ड अब विराट कोहली के नाम है।

4. 2015 के बाद से भारत की तीसरी पारी के अंतर से हार: यह हार 2015 की शुरुआत के बाद से भारत की पारी के अंतर से तीसरी हार है।

5. 2011 के बाद से दक्षिण अफ्रीका में पहली पारी के अंतर से हार: दक्षिण अफ्रीका में भारत की पारी के अंतर से हार 2011 के बाद पहली ऐसी घटना है।

6. SENA देशों में भारत का हालिया रिकॉर्ड: SENA देशों (दक्षिण अफ्रीका, इंग्लैंड, न्यूजीलैंड, ऑस्ट्रेलिया) में पिछले पांच टेस्ट मैचों में भारत को हार का सामना करना पड़ा है, जो विदेशी धरती पर मिलने वाली चुनौतियों को दर्शाता है।

7. 5वें और उससे नीचे रैंक वाले बल्लेबाजों द्वारा सबसे कम स्कोर: इस मैच के दौरान भारत के लाइनअप में नंबर 5 और उससे नीचे के बल्लेबाजों ने टेस्ट पारी में अपना सबसे कम सामूहिक स्कोर बनाया।

  1. 13 रन बनाम पाकिस्तान, लाहौर 1984
  2. 15 रन बनाम ऑस्ट्रेलिया, कानपुर 1979
  3. 16 रन बनाम दक्षिण अफ्रीका, सेंचुरियन 2023*
  4. 20 रन बनाम वेस्ट इंडीज, कानपुर 1958
  5. 21 रन बनाम ऑस्ट्रेलिया, एडिलेड 2020

यह हार सेंचुरियन में भारतीय क्रिकेट टीम के लिए एक नए दौर की शुरुआत हो सकती है, और इससे निकलने के लिए टीम को एकजुट होकर काम करने की आवश्यकता है

Recent Posts