अयोध्या में राम मंदिर के प्राण प्रतिष्ठा समारोह का आयोजन 22 जनवरी, 2024 को किया जाना है। इस समारोह में देश-विदेश से लाखों श्रद्धालु शामिल होने की उम्मीद है। ऐसे में, साइबर अपराधियों ने इस अवसर का फायदा उठाने के लिए तैयारी कर ली है। हाल ही में, लोगों को व्हाट्सऐप पर एक संदेश भेजा जा रहा है जिसमें अयोध्या मंदिर में मुफ्त वीआईपी प्रवेश का वादा किया जा रहा है। यह संदेश एक फर्जी स्कैम है जो लोगों के डेटा और पैसों को चुराने के लिए बनाया गया है।

स्कैम का तरीका

इस स्कैम में, लोगों को व्हाट्सऐप पर एक संदेश भेजा जाता है जिसमें अयोध्या मंदिर में मुफ्त वीआईपी प्रवेश का वादा किया जाता है। इस संदेश में एक APK (एंड्रॉयड एप्लिकेशन पैकेज) फाइल भी होती है जिसे ‘राम जन्मभूमि गृहसंपर्क अभियान।एपीके’ के नाम से जाना जाता है। इस फाइल को इंस्टॉल करने के बाद, लोगों को एक दूसरा संदेश भेजा जाता है जिसमें वीआईपी एक्सेस के लिए एक ऐप को इंस्टॉल करने के लिए कहा जाता है।

यह ऐप एक खतरनाक मैलवेयर है जो लोगों के डेटा को चुरा सकता है। यह ऐप लोगों के फोन में प्रवेश करने के बाद उनके बैंक खातों, क्रेडिट कार्ड नंबरों और अन्य व्यक्तिगत जानकारी को चुरा सकता है। इसके अलावा, यह ऐप लोगों के फोन में अन्य खतरनाक फ़ाइलों और ऐप्स को भी इंजेक्ट कर सकता है।

ऑनलाइन घोटालों से कैसे सावधान रहें?

ऑनलाइन घोटालों से बचने के लिए, निम्नलिखित बातों का ध्यान रखें:

  • ऐसी अज्ञात फ़ाइलें या ऐप्स डाउनलोड न करें जो संदिग्ध लगती हों।
  • जब भी किसी भी समाचार या ऑफ़र के बारे में सुनें, तो पहले किसी विश्वसनीय स्रोत से पुष्टि करें।
  • अपने बैंक खातों और क्रेडिट कार्ड नंबरों को सुरक्षित रखें।
  • अपने फोन को अपडेट रखें ताकि आपके पास नवीनतम सुरक्षा अपडेट हों।

निष्कर्ष

अयोध्या में राम मंदिर के उद्घाटन से पहले, लोगों को ऑनलाइन घोटालों के बारे में जागरूक रहना चाहिए। इस तरह के घोटालों से बचने के लिए, ऊपर बताई गई बातों का ध्यान रखें।

विस्तारित विवरण

स्कैम का लक्ष्य

यह स्कैम उन भक्तों को टारगेट कर रहा है जो मंदिर के उद्घाटन समारोह का हिस्सा बनने के लिए उत्सुक हैं। इस तरह के संदेश अक्सर लोगों की धार्मिक भावनाओं का फायदा उठाते हैं।

स्कैम का तरीका

इस स्कैम में, साइबर अपराधी लोगों को एक APK फ़ाइल भेजते हैं जो एक खतरनाक मैलवेयर है। यह मैलवेयर लोगों के फोन में प्रवेश करने के बाद उनके डेटा को चुरा सकता है। इसके अलावा, यह ऐप लोगों के फोन में अन्य खतरनाक फ़ाइलों और ऐप्स को भी इंजेक्ट कर सकता है।

स्कैम से कैसे बचें?

ऑनलाइन घोटालों से बचने के लिए, निम्नलिखित बातों का ध्यान रखें:

  • ऐसी अज्ञात फ़ाइलें या ऐप्स डाउनलोड न करें जो संदिग्ध लगती हों।
  • जब भी किसी भी समाचार या ऑफ़र के बारे में सुनें, तो पहले किसी विश्वसनीय स्रोत से पुष्टि करें।
  • अपने बैंक खातों और क्रेडिट कार्ड नंबरों को सुरक्षित रखें।
  • अपने फोन को अपडेट रखें ताकि आपके पास नवीनतम सुरक्षा अपडेट हों।

सावधानी बरतने से बच सकते हैं घोटालों से

अगर आप इन बातों का ध्यान रखेंगे, तो आप ऑनलाइन घोटालों से बच सकते हैं। इसके अलावा, आप अपने परिवार और दोस्तों को भी इन बातों के बारे में जागरूक कर सकते हैं।

Recent Posts