बुढ़ापे को सुरक्षित बनाने के लिए एक उत्कृष्ट विकल्प है भारत सरकार की ओर से चलाई जाने वाली अटल पेंशन योजना (APY). इसे अपने दूसरे नाम से भी जाना जाता है – APY. इस योजना के माध्यम से बुढ़ापे में मासिक 5000 रुपए तक की पेंशन प्राप्त की जा सकती है. यह योजना 18 से 40 वर्षीय व्यक्तियों के लिए उपलब्ध है, जो टैक्सपेयर नहीं हैं, और उम्र के अनुसार विभिन्न निवेश राशि की सुविधा प्रदान करती है.

अलग-अलग उम्र के लिए भिन्न निवेश राशि

APY का लाभ उठाने के लिए 20 साल तक निवेश करना आवश्यक है. हालांकि, यदि आपने निवेश करना शुरू किया है और आप इसे लंबे समय तक जारी नहीं रख पा रहे हैं, तो आपको प्रीमैच्योर एग्जिट का विकल्प भी है. ध्यान रहे कि प्रीमैच्योर एग्जिट की स्थिति में आपको आपके अकाउंट में जमा की गई राशि ही वापस की जाती है, सरकार द्वारा जमा किया गया पैसा वापस नहीं मिलता है.

क्या होता है प्रीमैच्योर एग्जिट की स्थिति में?

यदि आप अटल पेंशन योजना में निवेश करना शुरू करते हैं और इसे लंबे समय तक जारी नहीं रख पा रहे हैं और प्रीमैच्योर एग्जिट करना चाहते हैं, तो यह विकल्प उपलब्ध है. लेकिन इस स्थिति में सिर्फ आपके द्वारा जमा की गई राशि ही वापस की जाती है।

क्या होता है जब आप किस्‍तें नहीं देते हैं?

यदि आप किसी कारण से अपनी किस्‍तें नहीं दे पा रहे हैं, लेकिन आप प्रीमैच्योर एग्जिट नहीं करना चाहते हैं और अपने अकाउंट को जारी रखना चाहते हैं, तो आपको फिकर करने की आवश्यकता नहीं है। अगर आप बीच की कुछ किस्‍तें नहीं भर पा रहे हैं, तो भी आपके अकाउंट को एकदम से बंद नहीं किया जाता है। आप बाद में पेनाल्‍टी देकर किस्‍त को आगे जारी रख सकते हैं।

लेकिन यदि आप लगातार 6 महीने तक कोई धनराशि जमा नहीं करते हैं, तो इस स्थिति में आपके खाते को सील कर दिया जाता है। यदि आप सालभर तक राशि जमा नहीं करते हैं तो खाते को निष्क्रिय कर दिया जाता है और दो साल तक अंशदान जमा न करने पर आपके खाते को सरकार द्वारा बंद कर दिया जाता है।

इस प्रकार, अटल पेंशन योजना आपके भविष्य को सुरक्षित बनाए रखने के लिए एक सशक्त और सुरक्षित निवेश विकल्प प्रदान करती है। इसमें निवेश करने से पहले, सभी नियमों और शर्तों को ध्यानपूर्वक पढ़ना सुनिश्चित करें और आपकी आर्थिक योजना को सही दिशा में बढ़ाने के लिए समझदारी से निवेश करें

Recent Posts