सीएम गहलोत बोले- नाराज विधायकों को मनाना मेरी जिम्मेदारी, जबतक जिंदा हूं उनका अभिभावक रहूंगा

जयपुर। राजस्थान में 14 अगस्त से विधानसभा ( Rajasthan Vidhan Sabha ) का सत्र शुरू हो रहा है, ऐसे में गहलोत ( Ashok Gehlot ) सरकार ने पार्टी में चल रहे आपसी कलह को मिटाकर सरकार पर मंडरा रहे खतरे को दूर कर दिया है। दिल्ली में सोमवार को सचिन पायलट ( Sachin Pilot ) ने राहुल गांधी ( Rahul Gandhi ) और प्रियंका गांधी ( Priyanka Gandhi ) से मुलाकात कर अपना पक्ष रखा था। ऐसे में कांग्रेस की तीन सदस्यों की कमेटी का गठन किया है, जो सचिन पायलट गुट की समस्याओं को सुनेगी। इसके बाद सचिन पायलट के वापसी हो गई है। सचिन की वापसी के बाद सीएम गहलोत ने कहा कि आज मैं मुख्यमंत्री हूं ऐसे में नाराज विधायकों को मनाने की जिम्मेदारी मेरी है, जबतक जिंदा हूं उनका अभिभावक रहूंगा। सीएम ने कहा कि तीन सदस्यों की कमेटी बनाई गई है, जो सभी विवादों को सुलझाएगी।

आपको बता दें कि मंगलवार सुबह ही सीमए अशोक गहलोत ने तीन निर्दलीय विधायकों से मुलाकात की है। ये विधायक सचिन पायलट गुट में थे, वहीं इससे पहले सोमवार को भी सीएम ने पायलट गुट के विधायकों से मुलाकात की थी।

पायलट की राहुल और प्रियंका गांधी से मुलाकात के बाद पायलट गुट के विधायक भंवरलाल शर्मा जयपुर पहुंचकर सबसे पहले सीएम गहलोत से उनके निवास पर मिले थे। उसके बाद मीडिया से बात करते हुए उन्होने कहा कि उनकी जो नाराजगी थी वह अब दूर हो गई है।

Notifications    Ok No thanks