पंजाब सरकार ने कृषि विधेयक का विरोध कर रहे किसानों से मुकदमे वापस लिए

चंडीगढ़, पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने बुधवार को किसानों से अपील की है कि वे कृषि अधिनियम को लेकर राज्य में ना तो ट्रैफिक जाम करें न धारा 144 का उल्लंघन करें। हालांकि उन्होंने यह भी कहा कि इसे लेकर उनके खिलाफ कोई मामला दर्ज नहीं किया जाएगा, क्योंकि वे अपने जीवन के लिए लड़ रहे थे। पंजाब कांग्रेस की ओर से राज्यपाल को कथित किसान विरोधी विधेयकों के खिलाफ ज्ञापन सौंपने के बाद मुख्यमंत्री ने पत्रकारों से कहा कि धारा 144 का उल्लंघन करने वाले किसानों के खिलाफ दर्ज एफआईआर वापस ले ली जाएंगी।

उन्होंने कहा कि किसान इसीलिए कानून का उल्लंघन कर रहे हैं क्योंकि यह अध्यादेश उनके परिवारों को बर्बाद कर देगा। राज्य की सरकार और कांग्रेस किसानों के साथ है। केंद्र का यह विधेयक पंजाब और इसके कृषि क्षेत्र को बर्बाद कर देंगी, जो यहां की अर्थव्यवस्था की रीढ़ है।

उन्होंने कहा कि यह विधेयक न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) प्रणाली खत्म कर देंगे, जिससे न केवल राज्य में, बल्कि देश में भारी मुश्किल पैदा हो जाएगी। मुख्यमंत्री ने किसानों से आग्रह किया है कि वे दिल्ली जाकर केंद्र सरकार के सामने अपना विरोध प्रदर्शन करें। साथ ही उन्होंने आश्वासन दिया कि कांग्रेस उनकी लड़ाई में उनके साथ है।

Notifications    OK No thanks