नई दिल्लीः भारत और इंग्लैंड के बीच अहमदाबाद के नरेंद्र मोद स्टेडियम में सीरीज का तीसरा मैच खेला जा रहा है, जिसमें पहले दिन का खेल खत्म होने तक भारत ने 99 रन बना लिए हैं। इंग्लैंड की पहली पारी के लक्ष्य से महज 13 रन पीछे है। भारतीय गेंदबाजों के सामने इंग्लैंड के बल्लेबाज टिक नहीं पाए और 112 रन पर टीम ऑलआउट हो गई। नरेंद्र मोदी स्टेडियम में मैच के दौरान एक एक नजारा ऐसा भी देखने को मिला जिससे खेल भी रुक गया।

बुदवार को पहले दिन के दूसरे सेशन में करीब एक मिनट तक एलईडी लाइट बंद होने के कारण खेल को कुछ समय के लिए रोकना पड़ा। दोनों टीमों के बीच यह मैच डे-नाइट टेस्ट मैच के रूप में खेला जा रहा है। भारत की पारी के दूसरे ओवर में एलईडी लाइट करीब एक मिनट के लिए बंद रहा।

उससे पहले स्टुअर्ट ब्रॉड की गेंद पर शुभमन गिल स्लिप में बेन स्टोक्स के हाथों लपके गए। लेकिन थर्ड अंपायर ने नॉटआउट करार दिया। इसके बाद भारत की पारी के ही 12वें ओवर में भी एलईडी लाइट बंद हो गई, लेकिन इस समय कुछ ही सेकंड के लिए खेल में व्यवधान आया और खेल फिर से शुरू हो गया। भारत में पहली बार किसी स्टेडियम में एलईडी लाइट लगाया गया।

इससे पहले भारत के सभी स्टेडियमों में फलडलाइट का इस्तेमाल हो रहा है। यहां रोशनी छत पर है जो स्टैंड्स को कवर करती है। यह खिलाड़ियों की छाया से बचने के लिए है। करीब 800 करोड़ रुपये की लागत से बनी इस स्टेडियम में एलईडी लाइट एक हिस्सा है। वैसे मैचों के दौरान लाइटों का बंद होना कोई नई बात नहीं है। इससे पहले ईडन गार्डंस स्टेडियम में भी कई बार लाइट बंद हो चुका है। 2009 में भारत और श्रीलंका के बीच हुए वनडे के दौरान भी करीब 26 मिनट तक लाइट बंद रही थी।

Recent Posts