नई दिल्लीः आईपीएल 14वें सीजन के लिए गुरुवार को चेन्नई में नीलामी का पहला चरण खत्म हो गया, जिसमें खिलाड़ियों पर खूब धन की बारिश हुई। साउथ अफ्रीका के क्रिस मॉरिस की तो किस्मत ही खुल गई, जिन्हें राजस्थान रॉयल्स ने 16.25 करोड़ रुपये में खरीदा। भारतीय खिलाड़ियों भी भी नीलामी में छाए रहे।

टीम के लिए जीतोड़ मेहनत करने वाले चेतेश्वर पुजारा को धोनी के नेतृत्व वाली चेन्नई सुपर किंग्स ने खरीद लिया। चेन्नई फ्रेंचाइजी ने उन्हें 50 लाख रुपये के उनके आधार मूल्य पर खरीदा। पुजारा पिछली बार इस लुभावनी टी20 लीग में किंग्स इलेवन पंजाब का हिस्सा थे जिसे अब पंजाब किंग्स के नाम से जाना जाता है।

पूर्व भारतीय टीम के कप्तान एमएस धोनी की कप्तानी वाली टीम CSK के बोलिंग लक्ष्मापति बालाजी ने इस बारे में कहा, ‘पुजारा देश के लिए खून-पसीना बहाते हैं। हमने ऐसा फील किया कि वह आईपीएल में खेलना डिजर्व करते हैं। इसलिए हमने उन्हें अपनी टीम में शामिल किया।

पिछले कुछ टूर्नामेंटों में किसी भी फ्रेंचाइजी ने पुजारा को नहीं खरीदा था लेकिन इस बार नीलामी में बिकने के बाद 33 साल के इस खिलाड़ी ने ट्वीट किया, ‘भरोसा दिखाने के लिए धन्यवाद। इसे लेकर उत्सुक हूं।’

पुजारा ने पिछले महीने भरोसा जताया था कि अगर उन्हें मौका मिलता है तो वह निश्चित तौर पर अपनी फ्रैंचाइजी के लिए अच्छा प्रदर्शन करेंगे। सीएसके ने जब पुजारा को खरीदा तो हॉल में मौजूद सभी लोगों ने तीन बार की चैंपियन टीम की इसके लिए सराहना करते हुए तालियां बजाई।

सीएसके ने अपने आधिकारिक ट्विटर पेज पर लिखा, ‘हम नीलामी हॉल में तालियों की गड़गड़ाहट के साथ लीजेंड चेतेश्वर पुजारा का स्वागत करते हैं। पुजारा टेस्ट मैचों में तीसरे नंबर पर बल्लेबाजी करते हुए भारत के सबसे भरोसेमंद बल्लेबाजों में से एक हैं लेकिन वह अपने इस प्रदर्शन को सीमित ओवरों के प्रारूप में दोहराने में नाकाम रहे हैं।

Recent Posts