home page

राहुल के कप्तान बनने के बाद दो गुंटों में बंटी भारतीय टीम, विराट के खिलाफ हो गए ये प्लेयर

नई दिल्ली: भारतीय क्रिकेट में पिछले कुछ समय से तूफान मचा हुआ है। पूर्व कप्तान विराट कोहली (Virat Kohli) तीनों फॉर्मेट से अपनी कप्तानी से हथा गंवा चुके हैं। वहीं बीसीसीआई चीफ सौरव गांगुली से उनका लगातार विवाद चलता जा रहा है। हाल ही में रोहित शर्मा के चोटिल होने के बाद सेलेक्टर्स ने केएल
 | 
राहुल के कप्तान बनने के बाद दो गुंटों में बंटी भारतीय टीम, विराट के खिलाफ हो गए ये प्लेयर
राहुल के कप्तान बनने के बाद दो गुंटों में बंटी भारतीय टीम, विराट के खिलाफ हो गए ये प्लेयर

नई दिल्ली: भारतीय क्रिकेट में पिछले कुछ समय से तूफान मचा हुआ है। पूर्व कप्तान विराट कोहली (Virat Kohli) तीनों फॉर्मेट से अपनी कप्तानी से हथा गंवा चुके हैं। वहीं बीसीसीआई चीफ सौरव गांगुली से उनका लगातार विवाद चलता जा रहा है।

हाल ही में रोहित शर्मा के चोटिल होने के बाद सेलेक्टर्स ने केएल राहुल को दक्षिण अफ्रीका दौरे के लिए कप्तान नियुक्त कर दिया गया था। इसी बीच एक दिग्गज खिलाड़ी ने यहां तक दावा किया है कि टीम इंडिया अब दो गुटों में बंटती नजर आ रही है।

पाकिस्तान के पूर्व लेग स्पिनर दानिश कनेरिया ने दावा कर दिया है कि पार्ल में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ पहले एकदिवसीय मैच के दौरान भारतीय ड्रेसिंग रूम बंटा हुआ देखा जा रहा था।

राहुल के कप्तान बनने के बाद दो गुंटों में बंटी भारतीय टीम, विराट के खिलाफ हो गए ये प्लेयर

उन्होंने बताया कि भारतीय टीम को दो समूहों में बांट दिया है, एक स्टैंड-इन कप्तान केएल राहुल की तरफ और दूसरा पूर्व कप्तान विराट कोहली की ओर से. ‘केएल राहुल और विराट कोहली अलग-अलग बैठे हुए थे साथ ही, कोहली उस मूड में नहीं में नहीं नजर आ रहे थे। कनेरिया ने अपने यूट्यूब चैनल पर एक वीडियो में बताया है कि, ‘भारतीय टीम मजबूती के साथ वापसी कर सकते हैं.’

पहले वनडे मैच में, दक्षिण अफ्रीका ने बल्लेबाजी पूरी कर लेने के बाद, टेम्बा बावुमा (110) और रस्सी वैन डेर डूसन (129) के शतकों के साथ 50 ओवरों में चार विकेट खोकर 296 रन बना लिया था, जबकि 204 रनों की साझेदारी किया था। भारत के लिए, उप-कप्तान जसप्रीत बुमराह ने शानदार गेंदबाजी किया है।

कनेरिया ने कर लिया है कि राहुल ने भारत के कप्तान के रूप में अपने पहले वनडे मैच में एक कप्तान की भूमिका अच्छे से नहीं निभाया है। ‘एक समय ऐसा नहीं नजर आ रहा था कि दक्षिण अफ्रीका स्कोरबोर्ड पर 296 रन बनाने में कामयाब हो जाएगा। भारतीय टीम की तीव्रता की कमी से विपक्ष ने इतना बड़ा स्कोर बना सकता है.’

पार्ल की धीमी पिच पर 297 रनों का पीछा करते के दौरान, शिखर धवन (79) और विराट कोहली (51) ने भारत को एक अच्छी स्थिति में लाकर खड़ा कर दिया था, लेकिन उनके जाने के बाद मध्य क्रम में कोई भी बल्लेबाज नहीं टिक सका. आखिरकार, भारत 50 ओवर में आठ विकेट खोकर 265 रन बना सका, जिसमें शार्दुल ठाकुर का नाबाद अर्धशतक भी शामिल हो गया है।

कनेरिया ने राहुल से भारत के लिए सुधार क्षेत्रों की ओर इशारा करतने के वक्त अपनी बात समाप्त कर दिया था. उन्होंने बताया है कि, ‘राहुल को कप्तानी और बल्लेबाजी बढ़ाने की जरूरत हो गई है।