अब भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) की ओर से CIBIL स्कोर को लेकर एक बड़ा अपडेट जारी किया गया है। इसके तहत कई नियम बनाए गए हैं। Credit Score को लेकर बहुत सी शिकायतें भी सामने आ रही थीं, जिसके बाद केंद्रीय बैंक ने नियमों को सख्त किया है।

नए नियमों के तहत:

1. ग्राहक को दीनी होगी सूचना:

अब केंद्रीय बैंक ने सभी क्रेडिट इन्फॉर्मेशन कंपनियों से कहा है कि जब भी कोई बैंक या NBFC किसी ग्राहक की क्रेडिट रिपोर्ट चेक करता है तो उस ग्राहक को इसकी जानकारी देना होगा। यह जानकारी SMS या Email के माध्यम से भेजी जा सकती है।

2. बतानी होगी वजह:

RBI के मुताबिक अगर कोई भी बैंक या NBFC कंपनी किसी ग्राहक की किसी रिक्वेस्ट को रिजेक्ट करती है, तो उसे रिजेक्ट करने की वजह बताना होगा। इससे ग्राहक को यह समझने में आसानी होगी कि उसकी रिक्वेस्ट क्यों रिजेक्ट हुई।

3. वर्ष में एक बार मिलेगी रिपोर्ट:

RBI के मुताबिक अब क्रेडिट कंपनियों को वर्ष में एक बार फ्री फुल credit score अपने ग्राहकों को मुहैया कराना होगा। इसके लिए क्रेडिट कंपनी को अपनी वेबसाइट पर एक लिंक भी डिस्प्ले करना होगा। ताकि ग्राहक आसानी से अपनी फ्री फुल credit report चेक कर सकें।

4. ग्राहक को बताना है जरूरी:

RBI के मुताबिक अगर कोई भी ग्राहक डिफॉल्ट होने वाला हो तो डिफॉल्ट होने की रिपोर्ट करने से पहले ग्राहक को यह बताना होगा। अब लोन देने वाली संस्थाएं SMS/ई-मेल भेजकर सभी जानकारी को पोस्ट भी करेंगी। इसके अलावा अब ये बैंक लोन बांटने वाली संस्थाएं नोडल अफसर भी बताएंगी।

5. 30 दिन में होना चाहिए ये काम:

अगर आप भी क्रेडिट इन्फॉर्मेशन कंपनी हैं और 30 दिन के अंदर-अंदर ग्राहकों की शिकायत का निपटारा नहीं करते हैं तो आपको हर रोज 100 रुपये के हिसाब से जुर्माना भी चुकाना पड़ सकता है। यानी जितनी देर से शिकायत का निपटारा होगा, उतना ही अधिक जुर्माना भी चुकाना पड़ेगा।

नए नियमों का उद्देश्य:

  • ग्राहकों को उनके CIBIL स्कोर और क्रेडिट रिपोर्ट के बारे में अधिक जानकारी देना।
  • ग्राहकों को उनके क्रेडिट इतिहास को बेहतर बनाने में मदद करना।
  • क्रेडिट ब्यूरो को अधिक पारदर्शी और जवाबदेह बनाना।

नए नियमों का प्रभाव:

  • नए नियमों से ग्राहकों को अपने CIBIL स्कोर और क्रेडिट रिपोर्ट को बेहतर ढंग से समझने में मदद मिलेगी।
  • ग्राहकों को अपने क्रेडिट इतिहास को बेहतर बनाने के लिए अधिक प्रोत्साहित किया जाएगा।
  • क्रेडिट ब्यूरो को अधिक पारदर्शी और जवाबदेह बनाया जाएगा।

यह भी जान लें:

  • CIBIL स्कोर 300 से 900 के बीच होता है।
  • 900 से अधिक CIBIL स्कोर को अच्छा माना जाता है।
  • 750 से 900 के बीच CIBIL स्कोर को औसत माना जाता है।
  • 750 से कम CIBIL स्कोर को खराब माना जाता है।

अपना CIBIL स्कोर कैसे चेक करें:

  • आप अपनी CIBIL स्कोर रिपोर्ट CIBIL की वेबसाइट से खरीद सकते हैं।
  • आप अपनी CIBIL स्कोर रिपोर्ट कुछ बैंकों और NBFC से भी मुफ्त में प्राप्त कर सकते हैं।
  • आप अपनी CIBIL स्कोर रिपोर्ट कुछ क्रेडिट कार्ड कंपनियों से भी मुफ्त में प्राप्त कर सकते हैं।

Recent Posts

Ganesh Meena is a digital marketing expert and content...