एक जमाना ऐसा था जब लजीज खाना केवल राजघरानों में ही बनता था। बाकी के आम इंसान केवल लजीज खानों के बारे में केवल सोच ही सकते थे। लेकिन अब ऐसा नहीं है। अब आप इन लजीज खानों को अपने घर पर भी बना सकते हैं और इसके अलावा होटल में भी जाकर भी खा सकते हैं।

उस जमाने में तो इन लजीज खानों की रेसिपी को भी सीक्रेट रखा जाता था। और केवल राजाओं और राज परिवार के लोगों के लिए ही बनाया जाता था। खासतौर पर राजाओं को इन खानों को इसलिए किया जाता था। ताकि वो स्वाद के साथ ही अपनी शक्ति में भी वृद्धि कर सकें।

रॉयल फैमिली का ऐसा ही एक जायका है, अंगूर-मखाने की सब्जी। उस जमाने में अंगूर केवल राजा-महाराजा के लिए ही उपलब्ध होते थे। अपने एंटी एजिंग एजेंट यानी जवान बनाए रखने की क्वालिटी के कारण अंगूर राजाओं की पसंद भी हुआ करते थे। तब उदयपुर रियासत में पहली बार अंगूर की सब्जी बनाई गई।

क्यों खिलाया जाता था अंगूर औद मखाने की सब्जी?

इस सब्जी को बनाने के पीछे एक और कारण था। इस सब्जी के काफी सारे हेल्थ बेनिफिट भी हैं। पुराने समय में लोग खाने-पीने का बहुत ध्यान रखते थे। उस दौर में स्किन को प्रोटेक्ट करने के लिए क्रीम या दवाइयां नहीं हुआ करती थी।स्किन और बालों की खूबसूरती के अलावा अंगूर दिल की सेहत के लिए भी लाभदायक हैं। ऐसे ही फायदों के कारण ये रेसिपी राजघराने की रसोई का हिस्सा बनी।