शाहीन बाग में चौथे दिन भी नहीं बनीं बात, प्रदर्शनकारियों में नहीं एक राय

नई दिल्‍ली: शाहीनबाग पर आज वार्ताकार और प्रदर्शनकारियों के बीच चौथे दौर की बातचीत हुई। आज की बातचीत में सुप्रीम कोर्ट की वरिष्ठ वकील साधना रामचंद्रन ने कहा कि हमने सड़क के बारे में बातचीत जरूर की थी, लेकिन हमने ये कभी नहीं कहा कि प्रदर्शनकारी शाहीनबाग से चले जाएं। इसके अलावा उन्होंने कहा प्रदर्शनकारियों के लिए शाहीनबाग में एक खूबसूरत पार्क बने, जिसमें लोग अपना धरना कर सकते हैं। हालांकि साधाना रामचंद्रन के इस प्रस्ताव को खारिज कर दिया।

शाहीन बाग पर सुप्रीम कोर्ट के निर्देश के बाद वरिष्‍ठ वकील साधना रामचंद्रन चौथे दिन वहां पहुंची, लेकिन कोई बात नहीं बन सकी। उन्‍होंने प्रदर्शनकारियों से कहा, ”मैंने यह कभी नहीं कहा कि आप पार्क में चले जाएं। मैं आगे के भविष्‍य के लिए कह रही थी कि शाहीन बाग में बहुत खूबसूरत बाग बनना चाहिए। जिसपर आम हिंदुस्‍तानी का हक होना चाहिए कि वह आकर आंदोलन कर सके। यह मांग आगे के लिए है और हम सुप्रीम कोर्ट में इसको रखेंगे। इस तरह की गलतफहमियां आपके आंदोलन को तोड़ती हैं। हमारे जहन में यह बात आई है कि परसो रात को यहां पर कोई हादसा हुआ और यह बात कही गई कि हमने किसी को भेजकर यह रोड खुलवाने की कोशिश की। यह बिल्‍कुल गलत है।”

इसके बाद साधना रामचंद्रन ने महिला प्रदर्शनकारियों की बात सुनी तो वह एकमत नहीं दिखीं। रामचंद्रन ने महिलाओं से कहा कि एक-एक करके अपनी बात रखिए, भले ही सबकी बातें अलग-अलग हो सकती हैं, लेकिन उसका एक हल निकाला जा सकता है। इसपर महिलाओं ने कहा कि यहां पर सिर्फ रास्‍ता खुलवाने की बात हो रही है, सीएए और एनआरपी पर कोई बात नहीं कर रहा। इसके बाद साधना रामचंद्रन ने उनसे 7 प्‍वांइट लिए हैं कि वह क्‍या-क्‍या चाहती है, जिसके बाद रास्‍ता खोलने पर विचार हो सकता है।

आपको बता दें कि नागरिकता कानून के खिलाफ शाहीनबाग में पिछले दो महीनों से धरना जारी है, लोग यहां पर सड़क पर बैठे हैं जिस वजह से नोएडा से दिल्‍ली जाने वाले लोगों को काफी दिक्‍कत का सामना करना पड़ रहा है। इसी को देखते हुए सुप्रीम कोर्ट में एक याचिका दी गई थी, जिसमें रास्‍ता खुलवाने को कहा गया। इसी याचिका पर सुनवाई करते हुए सुप्रीम कोर्ट की तरफ से वरिष्‍ठ वकील संजय हेगड़े और साधना रामचंद्रन को वार्ताकार नियुक्‍त किया गया है, ताकि वह सड़क से उठकर दूसरी जगह को धरने के लिए चुने।

Leave a comment
Enable Notifications    OK No thanks