आजकल के समय में आधार कार्ड से अधिक जरुरी डॉक्यूमेंट कोई भी नहीं रह गया है। चाहें आप स्कूल में एडमिशन कराने जाए। या फिर कहीं कॉलेज में। आधार कार्ड की जरूरत आपकों हर जगह पड़ेगी।

इसका पहली बार इस्तेमाल साल 2009 में शुरू किया गया था।इसके बाद सरकार ने आधार की उपयोगिता पर विशेष ध्यान दिया है। इसके किसी बैंक अकाउंट खुलवाने के लिए यूज किया जाता है।

इसके साथ ही किसी भी सरकारी स्कीम का लाभ उठाने के लिए या फिर प्रॉपर्टी खरीदने के लिए। आधार कार्ड का उपयोग हर जगह ही होता है।

जैसे जैसे आधार कार्ड का उपयोग बढ़ता जा रहा है। वैसे वैसे ही इससे जुड़ी फ्रॉड के मामले भी सामने आ रहे हैं।ऐसे में आधार जारी करने वाली संस्था यूनिक आइडेंटिफिकेशन अथॉरिटी ऑफ इंडिया समय-समय पर आधार के लिए कई तरह के सेफ्टी फीचर्स लेकर आती रहती है।

क्या है मास्क्ड आधार कार्ड?

जिन सेफ्टी फीचर्स के बारे में हम आपकों बता रहे हैं। उन्हीं में से एक है मास्क्ड आधार कार्ड। इस आधार कार्ड के जरिए आप अपने आधार नंबर को छुपाकर खुद को साइबर फ्रॉड से सुरक्षित रख सकते हैं। आधार कार्ड में हर नागरिक को 12 नंबर का यूनिक आइडेंटिफिकेशन नंबर दिया जाता है, लेकिन मास्क्ड आधार कार्ड में पहले 8 नंबर पर XXXX-XXXX लिखा होता है और आखिरी के केवल 4 नंबर पर आधार नंबर दर्ज होता है। यहीं कारण है कि कोई भी आदमी इस आधार कार्ड का उपयोग करके किसी तरह के फ्रॉड को अंजाम नहीं दे सकता है।