आरिफ मोहम्‍मद खान ने शाहीन बाग के आंदोलन को बताया ‘आतंकवाद’

नई दिल्‍ली: इस समय देश में सबसे बड़ा चर्चा का मुद्दा शाहीन आग है। यहां पर लोग पिछले दो महीनों से अधिक समय से सीएए का विरोध कर रहे हैं। इसको लेकर अब केरल के राज्यपाल आरिफ मोहम्मद खान का विवादित बयान सामने आया है। आरिफ मोहम्‍मद खान ने बिना नाम लिए शाहीनबाग के आंदोलन को आतंकवाद का ही एक रूप तक करार दिया है।

आरिफ मोहम्मद खान ने कार्यक्रम में लोगों को संबोधित करते हुए कहा, ‘संसद से पास किसी कानून या सरकार की किसी भी पॉलिसी पर मतभेद जताने का सबको अधिकार है और इस मतभेद के अधिकार का सम्मान भी किया जाना चाहिए। इसकी कोई दिक्कत नहीं हैं, लेकिन अगर पांच लोग दिल्ली के विज्ञान भवन में बैठ जाएं और कहें कि जब तक संसद हमारे मुताबिक कोई प्रस्ताव पारित नहीं करती है, तब तक हम नहीं उठेंगे, तो यह ठीक नहीं हैं। यह एक दूसरी तरह का आतंकवाद है।’ इससे पहले भी आरिफ मोहम्‍मद खान पूरी तरह से सीएए के समर्थन में उतर चुके हैं। उन्‍होंने केरल सरकार द्वारा विधानसभा में सीएए के विरोध में प्रस्‍ताव पास करने की कड़ी आलोचना की थी।

आरिफ मोहम्‍मद खान की तरह केंद्रीय मंत्री स्‍मृति ईरानी ने शाहीन बाग पर बैठे लोगों पर सवाल खड़े किए है। उन्‍होंने कहा है कि यह लोग धरने पर नहीं बल्‍कि संसद और कानून के विरोध में बैठे हैं।

आपको बता दें कि नागरिकता कानून के खिलाफ शाहीनबाग में पिछले दो महीनों से धरना जारी है, लोग यहां पर सड़क पर बैठे हैं जिस वजह से नोएडा से दिल्‍ली जाने वाले लोगों को काफी दिक्‍कत का सामना करना पड़ रहा है। इसी को देखते हुए सुप्रीम कोर्ट में एक याचिका दी गई थी, जिसमें रास्‍ता खुलवाने को कहा गया। इसी याचिका पर सुनवाई करते हुए सुप्रीम कोर्ट की तरफ से वरिष्‍ठ वकील संजय हेगड़े और साधना रामचंद्रन को वार्ताकार नियुक्‍त किया गया है, ताकि वह सड़क से उठकर दूसरी जगह को धरने के लिए चुने।

फिलहाल लोग नोएडा से फरीदाबाद कैसे जा रहे हैं:
– अपोलो अस्पताल से शाहीनबाग क्रॉसिंग के बीच धरना
– धरने की वजह से ये रास्ता पूरी तरह से बंद
– आगरा नहर के किनारे फरीदाबाद से नोएडा का रास्ता खुला
– जैतपुर, मदनपुर, बदरपुर इसी रास्ते से आवाजाही जारी
– नोएडा से दिल्ली की तरफ सिर्फ दोपहिया वाहन की एंट्री
– एंबुलेंस और स्कूली बसों को आने जाने की अनुमति

Leave a comment
Enable Notifications    OK No thanks