home page

Curry Leaves Benefits: नियमित रूप से सुबह सवेरे चबाने चाहिए करी पत्ते, आसपास भी नहीं भटकेगी इस तरह की बीमारियां

नई दिल्ली: भारतीय रसोई के अंदर करी पत्ते का इस्तेमाल बहुत ही ज्यादा होता है। खासकर ज्यादातर हमारे दक्षिण भारतीय डिशेस इस पत्ते का तड़का लगाया करती हैं। करी पत्ते से खाने में बहुत ही अच्छा टेस्ट आ जाता है। बहुत सारे लोग तो इसे बाजार से भी खरीद कर लाते हैं तो कुछ ऐसे
 | 
Curry Leaves Benefits: नियमित रूप से सुबह सवेरे चबाने चाहिए करी पत्ते, आसपास भी नहीं भटकेगी इस तरह की बीमारियां
Curry Leaves Benefits: नियमित रूप से सुबह सवेरे चबाने चाहिए करी पत्ते, आसपास भी नहीं भटकेगी इस तरह की बीमारियां

नई दिल्ली: भारतीय रसोई के अंदर करी पत्ते का इस्तेमाल बहुत ही ज्यादा होता है। खासकर ज्यादातर हमारे दक्षिण भारतीय डिशेस इस पत्ते का तड़का लगाया करती हैं। करी पत्ते से खाने में बहुत ही अच्छा टेस्ट आ जाता है। बहुत सारे लोग तो इसे बाजार से भी खरीद कर लाते हैं तो कुछ ऐसे घर के गमले में ही लगा लेते हैं।

सेहत का खजाना माना जाता है करी पत्ता

करी पत्ते के अंदर कैल्शियम,विटामिन, मैग्नीशियम, फास्फोरस और आयरन जैसे न्यूट्रिएंट्स मौजूद होते हैं जो कि हमारे शरीर को बहुत ही तरीके से फायदा पहुंचाने में मदद करते हैं। तो चलिए आज हम जानेंगे कि अगर हर सुबह 3 से 4 हरे पत्ते चबाएं लेते हैं तो यह आपको किस तरह से लाभ पहुंचाते हैं।

आंखों के लिए है जबरदस्त

करी पत्ते खाने पर नाइट ब्लाइंडनेस या फिर आंखों से जुड़ी हुई बहुत सारी समस्याओं का खतरा चलने लग जाता है और ऐसा इसलिए क्योंकि इसके अंदर जरूरी पोषक तत्व जैसे कि विटामिन ए मौजूद होता है जो कि हमारी आंखों की रोशनी को बढ़ाने में बहुत ही ज्यादा सहायक होता है।

डायबिटीज में करता है मदद

डायबिटीज के मरीजों को कई बार करी पत्ते चबाने की सलाह दी गई है। ऐसा इसलिए क्योंकि इनके अंदर हाइपोग्लाइसेमिक प्रॉपर्टीज मौजूद होती है जो कि ब्लड शुगर लेवल को कंट्रोल बना देती है।

डाइजेशन हो जाता है अच्छा

कड़ी पत्ते को हर सुबह खाली पेट अगर चढ़ाया जाए तो इससे हमारा डाइजेशन अच्छा रहता है। जैसे की कब्ज और एसिडिटी जैसी पेट की समस्याएं हमसे दूर चली जाती हैं।

वजन कम करने में मिलती है मदद

करी पत्ते चबाने पर वजन और पेट की चर्बी को कम कर सकते हैं। उसे इसीलिए क्योंकि इसमें एथिल एसीटेट और डाई क्लोरो मेथेन जैसे न्यूट्रिएंट्स मौजूद होते हैं।

यह भी पढ़ें-Monsoon: मॉनसून सीजन में डेंगू और टाइफाइड जैसी बीमारी का खतरा ना हो इसके लिए कर सकते हैं यह बहुत ही आसान काम