home page

Potato For Weight Loss: इस तरह से आलू को पका कर खाने पर कभी नहीं होगी वजन में बढ़ोतरी,हो जाओगे बिल्कुल बेफिक्र

नई दिल्ली: आलू को सब्जी का राजा कहते हैं क्योंकि तकरीबन हर ही सब्जी में इसका इस्तेमाल होता है। यहां तक कि नॉनवेज आइटम के अंदर भी लोग इसे मिक्स करके बनाते हैं। इसके अंदर विटामिन ए, सी, मैग्नीशियम, फास्फोरस, आयरन और जिंक के साथ में पोटैशियम जैसे अहम न्यूट्रिएंट्स मौजूद होते हैं।जो कि हमारे
 | 
Potato For Weight Loss: इस तरह से आलू को पका कर खाने पर कभी नहीं होगी वजन में बढ़ोतरी,हो जाओगे बिल्कुल बेफिक्र
Potato For Weight Loss: इस तरह से आलू को पका कर खाने पर कभी नहीं होगी वजन में बढ़ोतरी,हो जाओगे बिल्कुल बेफिक्र

नई दिल्ली: आलू को सब्जी का राजा कहते हैं क्योंकि तकरीबन हर ही सब्जी में इसका इस्तेमाल होता है। यहां तक कि नॉनवेज आइटम के अंदर भी लोग इसे मिक्स करके बनाते हैं। इसके अंदर विटामिन ए, सी, मैग्नीशियम, फास्फोरस, आयरन और जिंक के साथ में पोटैशियम जैसे अहम न्यूट्रिएंट्स मौजूद होते हैं।जो कि हमारे शरीर के लिए बहुत ही ज्यादा फायदेमंद सिद्ध होते हैं पूर्णाराम ज्यादातर यह माना जाता है कि जिन भी लोगों को अपना वजन कम करना होता है उन्हें आलू का सेवन नहीं करना चाहिए या फिर कम करना चाहिए। लेकिन ऐसा इसलिए होता है क्योंकि इस सब्जी के अंदर कैलोरी और कार्बोहाइड्रेट की मात्रा बहुत ही ज्यादा होती है जो कि मोटापे के लिए जिम्मेदार मानी जाती है।

क्या सच में आलू खाने से बढ़ता है वजन

अब जो भी लोग आलू के शौकछोड़ नहीं पाते हैं वह आखिर वजन कम करने के लिए क्या कर सकते हैं। इसीलिए आज हम बताने वाले हैं कि आलू से वजन बढ़ता है या फिर नहीं बढ़ता है यह इस बात पर भी डिपेंड कर देता है कि आप आलू को किस तरीके से पका कर खाते हैं। आलू की जो भी रेसिपी मशहूर होती है उनमें उबले हुए आलू,फ्रेंच आलू, फ्रेंच फ्राइस, चिप्स, मसालेदार आलू, आलू की चाट और आलू के पराठे। अगर आलू को इन तरीके से खाते हैं तो आपका वजन बढ़ना ही निश्चित है।

आलू खाकर भी कम कर सकते हैं वजन

अगर आप आलू का सेवन करना चाहते हैं और उम्मीद यह भी करते हैं कि आपका वजन बढ़ना सके तो इसके लिए आलू एक खास तरीके से पकाने की बहुत ही ज्यादा जरूरत होती है। जिससे कि वजन आपका बढ़ेगा नहीं और साथ ही आपको वेट लूज करने में भी सहायता मिलेगी।

पहला तरीका

आलू के जरिए आप वजन को घटाने की अगर सोचते हैं तो इसके लिए आप आलू को उबालकर और फिर इसे फ्रीज में रख कर कुछ देर के लिए ठंडा होने के लिए छोड़ सकते हैं। ऐसा करने पर इस सब्जी की जी आई यानी कि ग्लाइसेमिक इंडेक्स कब हो जाया करती है और उसके बाद में मोटापा और डायबिटीज के मरीजों के लिए यह बहुत ही ज्यादा बेहतर ऑप्शन हो सकता है। अब आलू को सफेद सिरके में डाल देना चाहिए और ब्लाँच कर लेना चाहिए। जिसके जरिए आप अपने ग्लाइसेमिक इंडेक्स को कम करने में सहायता मिल सकती है। अगर आप इसके अंदर नींबू के रस की कुछ बूंदें मिला देते हैं तो इससे आलू का डाइजेशन आसान हो जाता है और ग्लूकोस लेवल भी अचानक से बढ़ता नहीं है।

दूसरा तरीका

अगर आप आलू को क्यूब की शेप में काट लेते हैं और गर्म पानी में तकरीबन आधे घंटे तक उसको ब्लाँच करते रहते हैं और उसके बाद में इसे पकाने में इस्तेमाल करते हैं। तो यह बहुत ही अच्छा होगा। अगर आप आलू को माइक्रोवेव ओवन या फिर भाग में पकाते हैं तो इस सब्जी में मौजूद शुगर, सोडियम और फैट की मात्रा कम हो जाती है।

यह भी पढ़ें-Home Eye Mask: आंखों में दिखने लगी है थकान तो अपनाएं यह घरेलू आई मास्क, जल्दी ही मिल जाएगा आराम