Fact Check: मोदी सरकार ‘महिला स्वरोजगार योजना’ के तहत महिलाओं के खाते में डाल रही है 1 लाख रु? जानिए सच्चाई

नई दिल्ली: कोरोना काल में लोगों के आय पर असर पड़ा है। ऐसे में सोशल मीडिया (Social Media) पर फर्जी ख़बरों का बाढ़ सी आ गई है। आए दिन फर्जी मैसेज (Fake Messages) के जरिए कई दावे किए जा रहे हैं। जिनमें पैसे मिलने को लेकर दावे किए जा रहे है। बता दें कि इन दिनों एक और मैसेज तेजी से वायरल हो रहा है। जिसमें दावा किया जा रहा है कि केंद्र सरकार महिला स्वरोजगार योजना के तहत सभी महिलाओं को उनके बैंक खाते में 1 लाख रुपए दे रही है। लेकिन भारत सरकार की संस्था पीआईबी ने इस वायरल मैसेज की सच्चाई की जांच कर अलग ही खुलासा किया है। आइए जानते हैं इस खबर में कितनी है की सच्चाई…

क्या सच में निकली हैं इतनी भर्तियां? जानिए सच
पीआईबी की तरफ से भी इस बात की पुष्टि की गई है कि यह दावा फर्जी है। केंद्र सरकार द्वारा महिला स्वरोजगार जैसी कोई योजना नहीं चलाई जा रही है।

भारत सरकार की प्रेस इंफॉर्मेशन ब्यूरो ने वायरल खबर का खंडन करते हुए कहा है कि सरकार ने ऐसा कोई फैसला नहीं लिया है। सरकार ने भी कोरोना काल में इस तरह की फर्जी ख़बरों को फैलने से रोकने के लिए कई प्रयास किए हैं।

PIB Fact Check-PIB Fact Check केन्द्र सरकार की पॉलिसी/स्कीम्स/विभाग/मंत्रालयों को लेकर गलत सूचना को फैलने से रोकने के लिए काम करता है। सरकार से जुड़ी कोई खबर सच है या झूठ, यह जानने के लिए PIB Fact Check की मदद ली जा सकती है। कोई भी PIB Fact Check को संदेहात्मक खबर का स्क्रीनशॉट, ट्वीट, फेसबुक पोस्ट या URL वॉट्सऐप नंबर 918799711259 पर भेज सकता है या फिर [email protected] पर मेल कर सकता है।

 

Notifications    OK No thanks