नई दिल्ली: अगर आप ईपीएफओ के सब्सक्राइबर हैं तो ये खबर आपके लिए बहुत ही महत्वपूर्ण है। आपको बता दें कि कुछ दिनों पहले ही ईपीएफओ ने हायर पेंशन का विकल्प चुनने की सुविधा शुरू की थी। जिसके लिए एक डेडलाइन भी तय की गई थी।

लेकिन अब ईपीएफओ ने सभी कर्मचारियों के लिए एक बड़ी राहत भरी खबर सुनाई है। खासकर उन कर्मचारियों के लिए जिन्होंने हायर पेंशन का विकल्प चुना है। EPFO ने कर्मचारियों को सैलरी डिटेल्स अपने डेटाबेस में अपलोड करने की समय सीमा को 31 मई 2024 तक बढ़ा दिया है।

मंत्रालय ने दी बड़ी जानकारी:

श्रम मंत्रालय ने एक बयान में यह जानकारी देते हुए कहा कि EPFO के सेंट्रल बोर्ड ऑफ ट्रस्टीज के चेयरमैन ने नियोक्ताओं के लिए संबंधित ब्योरा अपलोड करने की समय सीमा को भी बढ़ाने का फैसला किया है।

पहले क्या थी डेडलाइन?

इससे पहले, हाई कंट्रीब्यूशन पर हायर पेंशन का विकल्प चुनने वाले कर्मचारियों की सैलरी डिटेल्स अपलोड करने के लिए नियोक्ताओं को 31 दिसंबर 2023 तक का समय दिया गया था।

हाईकोर्ट का बड़ा आदेश:

ईपीएफओ ने अपने सभी ग्राहकों को हाई कॉन्ट्रिब्यूशन पर अधिक पेंशन के लिए विकल्प चुनने के लिए आवेदन जमा करने के लिए एक ऑनलाइन सुविधा प्रदान की थी। हाईकोर्ट के 4 नवंबर 2022 के आदेश के तहत ईपीएफओ ने पात्र वेतनभोगी लोगों को हायर पेंशन के विकल्प की पेशकश की थी।

कितने आवेदन हुए प्राप्त?

ऑनलाइन तरीके से आवेदन प्राप्त करने की सुविधा 26 फरवरी 2023 को शुरू की गई थी, जिसे 2 बार विस्तार देते हुए 11 जुलाई तक के लिए बढ़ा दिया गया था। इस दौरान पेंशनभोगियों और मौजूदा कर्मचारियों से अधिक पेंशन के विकल्प चुनने के संबंध में 17.49 लाख आवेदन प्राप्त हुए हैं। इसके बाद नियोक्ताओं को अपने कर्मचारियों की सैलरी डेटा अपलोड करने के लिए 30 सितंबर तक का समय दिया गया था।

अब क्या?

अब नियोक्ताओं को 31 मई 2024 तक अपने कर्मचारियों की सैलरी डिटेल्स अपलोड करनी होंगी।

यह बदलाव क्यों जरूरी था?

यह बदलाव उन नियोक्ताओं और कर्मचारियों के लिए जरूरी था जो हायर पेंशन का विकल्प चुनना चाहते थे, लेकिन पहले निर्धारित समय सीमा में ऐसा नहीं कर पाए थे।

इस बदलाव से किसे होगा फायदा?

इस बदलाव से उन लाखों कर्मचारियों को फायदा होगा जिन्होंने हायर पेंशन का विकल्प चुना है। अब उनके पास अपने डेटा को अपलोड करने और अधिक पेंशन प्राप्त करने के लिए अधिक समय होगा।

यह ईपीएफओ की तरफ से कर्मचारियों के लिए एक बड़ी राहत है। 31 मई 2024 तक बढ़ी हुई डेडलाइन उन लोगों को अधिक समय देगी जो हायर पेंशन का विकल्प चुनना चाहते हैं।

Recent Posts

Ganesh Meena is a digital marketing expert and content...