Credit Card:  बैंक से लेकर एजेंट तक सभी क्रेडिट कार्ड बेचते समय आपको इसके खास फीचर के बारे में जरूर बताते हैं कि इसकी मदद से आप कैश निकाल सकते हैं।

हालांकि, वे यह नहीं बताते कि पहले दिन से ही आप जो कैश निकालेंगे उस पर भारी ब्याज लगेगा। यह ब्याज 2.5 से 3.5 फीसदी प्रति माह की दर से लिया जा सकता है. वहीं आपको फ्लैट ट्रांजैक्शन टैक्स भी देना होगा. एटीएम से निकाले गए पैसे को चुकाने का कोई समय नहीं होता है और पैसे निकालने के दिन से ही ब्याज लगना शुरू हो जाता है।

बैंक से लेकर एजेंट तक सभी क्रेडिट कार्ड बेचते समय आपको इसके खास फीचर के बारे में जरूर बताते हैं कि इसकी मदद से आप कैश निकाल सकते हैं। हालांकि, वे यह नहीं बताते कि पहले दिन से आप जो कैश निकालेंगे उस पर भारी ब्याज लगेगा।

यह ब्याज 2.5 से 3.5 फीसदी प्रति माह की दर से लिया जा सकता है. वहीं आपको फ्लैट ट्रांजैक्शन टैक्स भी देना होगा. एटीएम से निकाले गए पैसे को चुकाने का कोई समय नहीं होता है और पैसे निकालने के दिन से ही ब्याज लगना शुरू हो जाता है।

हर क्रेडिट कार्ड की एक खासियत यह है कि इसका इस्तेमाल विदेश में भी किया जा सकता है। क्रेडिट कार्ड का यह फीचर कई लोगों को आकर्षित भी करता है, लेकिन कई लोग इसके पीछे की कहानी नहीं समझ पाते। जब आप विदेश में क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल करते हैं तो आपको ट्रांजैक्शन फीस चुकानी पड़ती है, जो घटती-बढ़ती रहती है। वैसे, अगर आप विदेश में कैश की जगह कार्ड का इस्तेमाल करना चाहते हैं तो इसके लिए आप क्रेडिट कार्ड की जगह प्रीपेड कार्ड का इस्तेमाल कर सकते हैं।

बैलेंस ट्रांसफर एक सुविधा है जो कई क्रेडिट कार्डों पर उपलब्ध है। इसके इस्तेमाल से आप एक क्रेडिट कार्ड का बिल दूसरे क्रेडिट कार्ड से चुका सकते हैं. यह सुनने में अद्भुत लग सकता है, लेकिन बैलेंस ट्रांसफर मुफ़्त नहीं है, इसके लिए आपको क्रेडिट कार्ड कंपनी या बैंक को चार्ज देना होगा।

इतना ही नहीं, अगर आप एक क्रेडिट कार्ड का बिल दूसरे क्रेडिट कार्ड से चुकाते हैं तो इसका मतलब है कि आप एक कर्ज चुकाने के लिए दूसरा लोन ले रहे हैं। ऐसा ज़्यादा करने से आपके CIBIL स्कोर पर नकारात्मक प्रभाव पड़ेगा।

Recent Posts