अटल पेंशन योजना में जुड़ा एक और फायदा,जानें कैसे लें इसका लाभ

नयी दिल्ली। अटल पेंशन योजना (Atal Pension Yojana) के सब्सक्राइबर्स के लिए बड़ी खबर है। खास कर उन लाभार्थियों को जो अभी भी इंटरनेट से नहीं जुड़ पाए हैं। उनके लिए यह स्कीम में कुछ जरुरी बदलाव किए गए है। बता दे कि बेहतर पारदर्शिता सुनिश्चित करने और इंफॉर्मेशन गैप को दूर करने के लिए पेंशन फंड रेगुलेटर एंड डेवलपमेंट अथॉरिटी (पीएफआरडीए) ने हाल ही में एक सर्कुलर जारी किया है, जिसमें अटल पेंशन योजना (एपीवाई) पॉइंट ऑफ प्रेजेंस (पीओपी) की शाखाओं में एपीवाई सिटीजेन चार्टर को सही ढेग से डिस्प्ले करने के लिए कहा है।

दरअसल इस नए फैसले से यह सुनिश्चित होगा कि एपीवाई लाभार्थियों को पेंशन योजना के नियमों और दिशानिर्देशों के बारे में ठीक से जानकारी मिले। वरना अकसर लोगों को किसी स्कीम के नियमों और दिशानिर्देशों की ठीक से जानकारी नहीं मिल पाती। खास कर उन लाभार्थियों को जो अभी भी इंटरनेट से नहीं जुड़ पाए हैं।

 

जानें क्या-क्या जानकारी मिलेगी
पीएफआरडीए ने एक सर्कुलर के मुताबिक ग्राहकों ने पीओपी की शाखाओं में सेवाओं की कमी के कारण एपीआई-संबंधित सवाल उठाए। इस चार्टर में एपीवाई खाता खोलने, ग्राहकों की डिटेल अपडेट करने, पेंशन राशि को अपग्रेड या डाउनग्रेड करना, एपीवाई से पैसे निकालने और फॉर्म आदि हासिल करने जैसी जानकारी शामिल होगी।

क्या है अटल पेंशन योजना
यह योजना असंगठित क्षेत्र के श्रमिकों पर केंद्रित है, जिसके तहत 1,000 रुपये, 2,000 रुपये, 3,000 रुपये, 4,000 रुपये या 5,000 रुपये प्रति माह की न्यूनतम पेंशन मिलती है। भारत का कोई भी नागरिक एपीआई योजना का लाभ ले सकता है। मगर इसके लिए आयु की सीमा है। इस योजना में 18 से 40 साल के बीच की आयु वाली ही निवेश कर सकता है। आपके पास बचत बैंक खाता / डाकघर बचत बैंक खाता होना जरूरी है। आप एपीआई खाते पर समय-समय पर होने वाली अपडेट प्राप्त करने के लिए रजिस्ट्रेशन के दौरान बैंक को आधार और मोबाइल नंबर प्रदान कर सकते हैं। हालांकि इस योजना से जुड़ने के लिए आधार जरूरी नहीं है।

Notifications    Ok No thanks