नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 31 मई को किसानों के लिए पीएम किसान सम्मान निधि योजना के तहत 11वीं किस्त जारी कर दी है। अब सभी किसानों को 12वीं किस्त का इंतजार लगा हुआ है। अगर आप भी प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना का लुफ्त उठा रहे हैं तो यह खबर आपके बहुत ही काम की हो सकती है। ऐसा इसलिए क्योंकि उत्तर प्रदेश सरकार ने इस योजना का लाभ उठा रहे किसानों को रिकवरी का नोटिस जारी कर दिया है। जारी नोटिस की मानें तो अगर किसी के घर में टेक्स्ट पर होता है और उन्होंने पीएम किसान सम्मान निधि योजना का लुफ्त उठाया हुआ है तो उनसे अब पूरा पैसा वसूल लिया जाएगा।

जारी नोटिस में की गई है यह बात

खबरों की मानें तो यूपी के सुल्तानपुर जिले के अखंड नगर ब्लॉक में किसान को जारी एक नोटिस में लिखा हुआ था कि उपयुक्त किसान को पीएम किसान पोर्टल पर आयकर दाता के रूप में चयनित क्या हुआ है इसी कारण से आप अपात्र हो गए हैं क्योंकि कृषक द्वारा यह जानते हुए कि वह पात्र की श्रेणी में नहीं है और जानबूझकर योजना में पंजीकरण करवा रहे हैं। अवैध रूप से इसका लाभ प्राप्त करते हैं। नोटिस के उपरांत पीएम किसान योजना अंतर्गत से जो भी धनराशि प्राप्त हुई है सभी खाते में जमा करनी होगी।

सरल भाषा में कहा जाए तो सभी करदाताओं यानी कि टेक्स्ट पर जो पीएम किसान सम्मान निधि योजना का लुफ्त उठाते हैं अब उन्हें पूरा पैसा सरकार को वापस देना होगा।

पैसों की अब की जाएगी वसूली

साथ ही उत्तर प्रदेश के कृषि निदेशक विवेक सिंह ने इंटरव्यू में बातचीत करते हुए कहा कि इस तरह का निर्देश प्रदेश में जारी हुआ है। प्रदेश में पीएम किसान योजना का लाभ उठा रहे करदाताओं को पैसा वापस करने के लिए नोटिस जारी कर दिया गया है। साथ ही साथ उत्तर प्रदेश के कुशीनगर जिले के डिप्टी डायरेक्टर एग्रीकल्चर आशीष ने भी यह कहां है कि जिले में 2800 किसानों को ऐसा नोटिस दिया गया है। जिसमें से गुरुवार तक 310 किसानों ने पैसा वापस किया है।

Recent Posts