नई दिल्लीः भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई) देश का सबसे बड़ा बैंकों में से एक हैं, जो समय-समय पर अपने ग्राहकों को नई-नई सुविधाएं मुहैया कराता रहता है। एसबीआई अब एक ऐसी स्कीम लेकर आया है, जिसमें निवेश करने पर आपका भविष्य सुरक्षित हो सकता है यानि 10 हजार रुपये महीना आसानी से कमा सकते हैं.।

यहां कुछ ऐसा है जिसमें आपको निवेश करने पर विचार करना चाहिए, जिसके जरिए आपको निश्चित समय के बाद मासिक आय प्राप्त होने लगती है। यहां हम आपको SBI की एन्युटी डिपॉजिट स्कीम के बारे में बता रहे हैं।

एसबीआई एक एन्युटी डिपॉजिट अकाउंट खोलने का ऑपशन देता है। यह खाता ग्राहकों को एकमुश्त राशि जमा करने के बाद हर महीने एक फिक्स्ड अमाउंट देता है। यह स्कीम उन लोगों के लिए ज्यादा फायदेमंद है, जिन्हें आय का कोई दूसरा बड़ा त नहीं है।

– जानिए एसबीआई की महत्वपूर्ण बातें

एसबीआई की इस स्कीम में 36, 60, 84 या 120 महीने की अवधि के लिए निवेश किया जा सकता है। इसमें निवेश पर ब्याज की दर वही होगी जो चुने हुए अवधि की फिक्स्ड डिपॉजिट के लिए है। मान लें कि आप पांच साल के लिए फंड जमा करते हैं तो आपको ब्याज केवल पांच साल की एफडी पर लागू ब्याज दर के अनुसार मिलेगा। हर कोई इस योजना का लाभ उठा सकता है।

  • एन्युटी स्कीम की खास जानकारी

SBI एन्युटी डिपॉजिट स्कीम नाबालिगों सहित सभी निवासियों द्वारा खोली जा सकती है।

स्कीम के तहत अकाउंट को SBI की एक ब्रांच से दूसरे में ट्रांसफर करने की सुविधा है।

SBI एन्युटी डिपॉजिट स्कीम में न्यूनतम जमा राशि 25,000 रुपये हैं।

इस स्कीम में कोई अधिकतम डिपॉजिट लिमिट नहीं है।

एन्युटी डिपॉजिट स्कीम में मिलने वाली ब्याज दर SBI की फिक्स्ड डिपॉजिट की ब्याज दर के समान है।

60 वर्ष या उससे अधिक की आयु वाले वरिष्ठ नागरिकों को देय ब्याज दर, लागू दर से 0.50% अधिक होगी।

SBI स्टाफ और SBI पेंशनभोगियों को देय ब्याज दर, लागू ब्याज दर से 1.00% अधिक होगी।

स्कीम में ब्याज का भुगतान जिस दिन अकाउंट खोला गया, उसके अगले महीने की उसी तारीख से शुरू होगा।

विशेष मामलों में एन्युटी के बैलेंस अमाउंट के 75 फीसदी तक ओवरड्राफ्ट/लोन लेने की सुविधा है।

स्कीम के तहत खाते को जमाकर्ता की मृत्यु की स्थिति में मैच्योरिटी से पहले बंद करने की अनुमति है।

15 लाख रुपये तक की जमा राशि पर समय से पहले भुगतान की भी अनुमति है। हालांकि प्रीमैच्योर क्लोजर पर पेनल्टी देनी होगी।

  • 10 हजार हर महीना लेने के लिए क्या करना होगा

अगर कोई निवेशक हर महीने 10,000 रुपये की मासिक आय चाहता है तो उसे 5,07,964 रुपये जमा करने होंगे। उन्हें 7 फीसदी की ब्याज दर से रिटर्न मिलेगा, जो हर महीने लगभग 10,000 रुपये है। अगर आपके पास निवेश करने के लिए 5 लाख रुपए हैं और आप भविष्य में अपनी आय बढ़ाना चाहते हैं तो यह आपके लिए एक बेहतर विकल्प है।

Recent Posts