नई दिल्ली: केंद्र सरकार की तरफ से लोगों को कई तरह का मौका मिल रहा है। निवेशकों के बारे में आपको सोचना काफी अहम होता है। निवेशकों के पैसों से आपको काफी फायदा हो सकता है। साल 2023 की बात करें तो जल्द ही बजट आने जा रहा है और इसके बाद बजट में कुछ बातों का ध्यान रखने की जरुरत है।

वहीं इस बार बजट 2023 से भी लोगों को कई तरह की उम्मीद है जिसकी मदद से आपको भी फायदा हो सकता है। लोगों को सार्वजनिक भविष्य निधि (PPF) में इंवेस्टमेंट को बढ़ाने को लेकर लगातार डिमांड हो रही है। प्री-बजट में सरकार को ज्ञापन सौंपा जा चुका है।

उसमें इंस्टीट्यूट ऑफ चार्टर्ड अकाउंटेंट्स ऑफ इंडिया की तरफ से मांद हो गई है कि PPF में निवेश की सीमा को 1.5 लाख रुपये की मौजूदा सीमा की बात करें तो बढ़ाने के बाद 3 लाख रुपये सालाना होने की जरुरत है।

सीमा मे नहीं होगा बदलाव

कुल निवेश बढ़ने के साथ भी देखा जाए तो पिछले कई सालों से PPF निवेश की सीमा में कुछ भी बदलाव नहीं किया गया है। इस योजना से मिल रहे टैक्स फायदा होने की वजह से लोगों को पीपीएफ काफी बेहतर लग रहा है। इनकम टैक्स एक्ट के सेक्शन 80सी के मुताबिक PPF में 1.5 लाख रुपये/सालाना तक टैक्स छूट का फायदा मिल सकता है। इसके अलावा ब्याज और मैच्योरिटी में जो भी रकम मिल जाती है उसमें कुछ भी अतिरिक्त पैसा भी नहीं देना होता है।

आईसीएआई द्वारा मिली जानकारी के मुताबिक PPF निवेश की लिमिट बढ़ने के बाद घरेलू लिमिट में बढ़ावा करने की मदद मिलती है और खाताधारकों की बात करें तो उनको भी फायदा हो सकता है। ICAI ने जानकारी दिया है कि PPF उद्यमियों के लए ये स्कीम काफी बेहतर विकल्प माना जा रहा है।

वहीं कर्मचारी की बात करें तो 12 फीसदी इसमें जमा करना अहम हो जाता है। जानकारी के मुताबिक PPF स्कीम बचत को बढ़ावा मिलना शुरु हो जाता है। इस वजह से इसमें लिमिट बढ़ाने के साथ 3 लाख रुपये करने को लेकर टिप्स मिल चुकी है।