आजकल लोगों के पास इन्वेस्टमेंट करने के अनेकों विकल्प मौजूद हैं। अगर आप कम समय तक निवेश करके अच्छा रिटर्न प्राप्त करना चाहते हैं तो पब्लिक प्रोविडेंट फंड आपके लिए बेहतर विकल्प हो सकता है।

मगर इसमें मार्केट रिस्क भी ज्यादा शामिल होता है। आज भी देश में बड़ी संख्या में लोग बिना निवेश को जोखिम की निवेश स्कीम में पैसे लगाना पसंद करते हैं। अगर आप भी छोटा निवेश करके लंबी अवधि में अच्छा मुनाफा प्राप्त करना चाहते हैं तो ये खबर आपके लिए ही है।

आप पीपीएफ में निवेश कर सकतें हैं।इस स्कीम में निवेश करने पर आपको इनकम टैक्स की धारा 80सी के तहत 1.5 लाख रुपये तक की सालाना छूट मिलती है।इस स्कीम के तहत हर साल 7.1 फीसदी के कंपाउंडिंग के आधार पर ब्याज दर मिलता है। आप इसमें पुरे 15सालों तक के लिए निवेश कर सकतें हैं।इसके साथ ही मैच्योरिटी पर पैसे निकालने में 3 तरह के ऑप्शन मिलते हैं। आइए जानते है इस बारे में-

पहले विकल्प के रुप में आप मैच्योरिटी पर पैसे निकाल सकते हैं।आप इस स्कीम में 15 साल के लिए पैसे निवेश कर सकते हैं.।इस स्कीम में 15 साल तक पैसे निवेश करने के बाद आप मैच्योरिटी पर पूरे पैसे निकाल सकते हैं।

दुसरे विकल्प के रुप में आप अपने पीपीएफ को 5सालों के लिए बढ़ा भी सकते हैं। यानि 15 सेल पुरा होने के बाद आप अतिरिक्त 5 सालों तक निवेश कर सकतें हैं।

आपको बता दें कि मैच्योरिटी के बाद भी PPF अकाउंट डीएक्टिवेट नहीं होता है। इसका मतलब है कि पैसे न निकलने और डिपॉजिट करने पर भी किसी तरह की कोई पेनाल्टी नहीं लगती है।