नई दिल्लीः केंद्रीय बजट में ज्वैलरी के आयात पर कस्टम ड्यूटी कम होने से सर्राफा बाजार में सोना-चांद की कीमत लगातार नीचे लुढ़कती जा रही है। लगातार लुढ़कती कीमत के बीच ग्राहकों में भी काफी उत्साह दिखाई दे रहा है। सुनसान पड़े बाजारों में ग्राहकों की काफी चहल-पहल दिखाई दे रही है।

फरवरी के 20 दिनों में सोने की कीमतों में जबर्दस्त गिरावट देखी गई है। सिर्फ 20 दिनों में सोने की कीमतों में 3,292 रुपये प्रति 10 ग्राम तक की गिरावट दर्ज की गई है तो चांदी की कीमतों की बात करें तो इस समय पिछले साल के भाव की तुलना में चांदी 7,594 रुपये प्रति किलो तक सस्ती हुई है।

पहली बात तो ये बता दें कि सर्राफा बाजार में सोने और चांदी के दाम वायदा कारोबार पर आधारित होते हैं। असल बाजार में सोने-चांदी की कीमतें एकदम बराबर नहीं रहती, बल्कि आगे-पीछे रहती हैं। अब बताते हैं कि बुलियन में सोने ने पिछले एक सप्ताह में कैसा प्रदर्शन किया।

दरअसल, सोना पिछले 20 दिनों में अगर 3292 रुपये प्रति 10 ग्राम तक गिरा है, तो पिछले एक सप्ताह में ये गिरावट 1285 रुपये प्रति 10 ग्राम तक रही। वहीं, चांदी के भाव पिछले सप्ताह की तुलना में मामूली तौर पर ज्यादा हुई है। चांदी ने 37 रुपये की बढ़ोतरी दर्ज की है।

वहीं, दिल्ली के सर्राफा बाजार में सोने का दाम सबसे ज्यादा 7 अगस्त 2020 को था, तब सोना 56,254 की सर्वकालिक ऊंचाईयों को छू गया था। पिछले सप्ताह की बात करें तो 12 फरवरी 2021 यानि शुक्रवार के दिन सोने का कारोबार शाम को जब बंद हुआ था, तो सुबह 47,528 पर बाजार खुलने की तुलना में 47,386 पर बंद हुआ था।

वहीं, चांदी की बात करें तो 7 अगस्त 2020 को चांदी 76,008 रुपये प्रति किलोग्राम पर पहुंच चुकी थी। 19 फरवरी को चांदी 68,414 रुपये प्रति किलो पर बंद हुई। एक सप्ताह पहले 12 फरवरी को चांदी 68,377 रुपये प्रति किलोग्राम थी। इस तरह से सप्ताह के दामों में तो 37 रुपयों की बढ़ोतरी हुई, लेकिन सालाना तौर पर इसमें 7594 रुपये प्रति किलोग्राम की गिरावट दर्ज हुई है।

Recent Posts