नई दिल्लीः भारतीय सर्राफा बाजार की कीमतों के हिसाब से फरवरी का महीने सोना-चांदी खरीदारों के लिए अच्छा रहा है। केंद्रीय बजट में ज्वेलरी पर कस्टम ड्यूटी कम करने से सोना-चांदी की कीमत में भारी गिरावट देखने को मिली, जिससे सर्राफा बाजार में खरीदारों की भीड़ भी देखी गई है। महीने के आखिरी दिन भी सोने की कीमत में गिरावट का दौर जारी रहा।

शुक्रवार को सोना 342 रुपये सस्ता होकर 45,599 रुपये प्रति 10 ग्राम हो गया। जबकि चांदी 2,007 रुपये कम होकर 67,419 रुपये प्रति किलोग्राम पर आ गई। इस तरह सोना अपने उच्चतम भाव से 10 हजार रुपये से ज्यादा तक गिर चुका है। 7 अगस्त 2020 को सोना अपने उच्चतम स्तर पर पहुंच गया था।

सोने की कीमत इस दिन 56200 के पार हो गई थी। इस कीमत से अगर तुलना करें तो सोने की कीमत में दस हजार से अधिक की गिरावट आ चुकी है। चांदी ने भी अगस्त में अपना ऑल टाइम हाई छुने का काम किया था और वह 77,840 रुपये प्रति किलो के करीब जा पहुंची थी। तब से अब तक चांदी करीब दस हजार रुपये सस्ती हुई है। .

इस पूरे हफ्ते सोने की कीमत में गिरावट की स्थिति बनी रही। सोमवार को सोना 46035 रुपए प्रति 10 ग्राम था तो मंगलवार को इसकी कीमत 46,455 रुपए पर पहुंच गई, लेकिन अगले ही दिन बुधवार को यह फिर से गिर गया। बुधवार को सोने 46, 307 रुपए प्रति 10 ग्राम पर आ गया। वहीं गुरुवार को ये 45,941 रुपए प्रति 10 ग्राम पर था।

वहीं इस महीने चांदी की कीमत में उतार चढ़ाव का दौर जारी रहा है। इस महीने के कारोबारी हफ्ते से आखिरी दिन शुक्रवार को चांदी की कीमत में बड़ी गिरावट दर्ज की गई। शुक्रवार को चांदी 2,007 रुपये सस्ता होकर 67,419 रुपये प्रति किलोग्राम हो गई। गुरुवार को सोना 46446 रुपये प्रति 10 ग्राम पर बंद हुआ। वहीं बुधवार को सोना 46,307 रुपये प्रति 10 ग्राम था। इससे पहले मंगलवार को सोना 46,455 रुपये प्रति दस ग्राम पर बंद हुआ था। जबकि सोमवार को सोने की कीमत 46035 रुपये प्रति 10 ग्राम थी।

अंतरराष्ट्रीय बाजार में सोना 1,760 डॉलर प्रति औंस पर कारोबार कर रहा था, जबकि चांदी 26.78 डॉलर प्रति औंस थी। जानकारों की माने तो अंतरराष्ट्रीय बाजार में बिक्री के कारण सोना और चांदी दोनों सस्ते हुए हैं। जिसका असर भारतीय बाजार पर भी देखा जा रहा है। सर्रफा बाजार के जानकारों की मानें तो आने वाले दिनों में सोने की कीमत में और गिरावट आ सकती है।

Recent Posts