नई दिल्लीः केंद्र सरकार ने बजट में ज्वेलरी के आयात पर कस्टम ड्यूटी कम करने का फैसला किया था, जिसके बाद से लगातार सर्राफा बाजार में गिरावट देखने को मिल रही है। सोना-चांदी के दाम नीचे गिरने से ग्राहकों में काफी खुशी का माहौल बना हुआ है। महंगाई के चलते सुनसान पड़े सर्राफा बाजारों में भी दुबारा से रौनक आने लगी है। सोमवार को सोना 445 रुपये चढ़कर 46649 रुपये पर बंद हुआ। वहीं चांदी 956 रुपये की छलांग के साथ 69370 रुपये प्रति किलो के दर से बंद हुई।

सोमवार को सोना 46649 रुपये पर बंद हुआ। इससे पहले शुक्रवार को सोना 45,568 रुपये प्रति 10 ग्राम पर रह गया। वहीं गुरुवार को सोने का मूल्य 45,807 रुपये प्रति 10 ग्राम पर रहा था। जबकि बुधवार को सोने 46,187 रुपये प्रति 10 ग्राम पर बंद हुआ था। इससे पिछले मंगलवार को सोने का 46,819 रुपये प्रति 10 ग्राम पर बंद हुआ था। वहीं सोमवार को सोना 46,909 रुपये प्रति 10 ग्राम था।

सोमवार को चांदी 69370 रुपये प्रति किलो पर बंद हुई। वहीं शुक्रवार को चांदी 67,370 रुपये प्रति किलोग्राम पर थी। जबकि गुरुवार को चांदी की कीमत 68,093 रुपये प्रति किलोग्राम पर रही थी। बुधवार को चांदी की कीमत 68,255 रुपये प्रति किलोग्राम थी। मंगलवार को चांदी 69,513 रुपये प्रति किलोग्राम थी। सोमवार को चांदी 69,435 रुपये प्रति किलो था।

कुल मिलाकर पिछले कारोबारी हफ्ते में सोना करीब 1200 रुपये सस्ता हुआ था जबकि चांदी 2500 रुपये प्रति किलो तक टूटी थी। सोने फिलहाल 46,000 रुपए के प्रति 10 ग्राम के आस पास है। इस गिरावट के बाद सोने के दाम 8 माह के सबसे निचले स्तर पर पहुंच गया, जबकि चांदी 68,479 रुपये प्रति किलो तक पहुंच गई थी।

सोने के ऑल टाइम हाई से सोने की मौजूदा कीमत की तुलना करें तो सोने-चांदी की कीमतों में बड़ी गिरावट आ चुकी है। अभी सोने की कीमत 46,649 रुपये प्रति 10 ग्राम है, जबकि चांदी 69,370 रुपये प्रति किलो के हिसाब से बिक रही है। सोने ने अगस्त के महीने में अपना ऑल टाइम हाई छू लिया था।

सोना 56,200 रुपये प्रति 10 ग्राम के स्तर तक जा पहुंचा था। तब से सोना अब तक तकरीबन 10000 रुपये तक सस्ता हो चुका है। चांदी ने भी अगस्त में अपना ऑल टाइम हाई छुआ था और वह 77,840 रुपये प्रति किलो के करीब जा पहुंची थी। तब से अब तक करीब चांदी 10000 रुपये सस्ती हो चुकी है।

जानकारों की मानें तो कोरोना संक्रमण की चिंताएं अब लोगों के मन से दूर हो रही है। लिहाजा लोग अब सुरक्षित निवेश के तौर पर सोने को नहीं खरीद रहे हैं। निवेशकों ने शेयर बाजार की ओर रुख किया है। आने वाले दिनों में कीमतें और गिर सकती है।

Recent Posts