Atmanirbhar Bharat Package

नई दिल्ली: Atmanirbhar Bharat Package. प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने मंगलावर को आत्मनिर्भर भारत अभियान पैकेज (Atmnirbhar Bharat Abhiyan Package) की घोषणा की है , इसके बाद में बुधवार को वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने एमएसएमई सेक्टर के कई राहत का ऐलान किया। आज फिर से वित्तमंत्री  इस पैकेज से जुड़ी घोषणाएं कर रही हैं।

 

Atmanirbhar Bharat Package: जानें निर्मला सीतारमण की प्रेस कॉन्फ्रेंस  की बड़ी बातें

वित्त मंत्री ने कहा कि, रेहड़ी-पटरी वालों को मिलेगा लोन, 10,000 रुपये तक का कर्ज ले सकेंगे। 50 लाख स्ट्रीट वेंडर्स को फायदा होगा ।
वित्त मंत्री ने कहा कि मुद्रा शिशु लोन के दायरे में जो आते हैं, उन्हें ब्याज से राहत दी जाएगी। मुद्रा शिशु लोन लेने वालों के ब्याज में 2 फीसदी की छूट होगी, इसका खर्चा सरकार उठाएगी ।
वित्त मंत्री ने ने कहा ‘वन नेशन वन राशन कार्ड’ की योजना हम लाने वाले हैं। इसके लिए मार्च 2021 तक लक्ष्य रखा गया है
वित्त मंत्री ने कहा कि जुलाई तक 8 करोड़ प्रवासी मजदूरों को राशन के लिए 3,500 करोड़ का प्रावधान किया गया है। राज्यों को लाभ पहुंचाना होगा। जिनके पास राशन कार्ड नहीं हैं, उन्हें भी लाभ मिलेगा।
वित्त मंत्री ने न्यूनतम मजदूरी में भेदभाव को खत्म करेंने और, मजदूरों का सालावान हेल्थ चेकअप होने का जिक्र किया।
इसके अलावा वित्त मंत्री ने कहा कि प्रवासी मजदूरों के की मदद के लिए हम योजना लेकर आए हैं, उन्हें लाभ पहुंचाने की कोशिश की जा रही है।
वित्त मंत्री ने एक नई घर का ऐलान  योजना किया है । जिसमें उन्होंने कहा कि प्रवासी मजदूरों के लिए सस्ते किराये के घर की योजना हम लेकर आएंगे, जिससे कि जहां प्रवासी मजदूर काम कर रहे हैं, उन्हें सस्ते में घर मिल सके।

कोरोना वायरस के वजह से उपजे हालात के बीच वित्त मंत्री घोषणा करते हुए कहा, शहरी गरीबों को 11,000 करोड़ रुपये की मदद की गई है और यह मदद एसडीआरएफ के जरिए दी जा रही है।

कृषि क्षेत्र के लिए वित्त मंत्री ने बड़ी घोषणा करते हुए कहा, कोरोना वायरस के समय में 63 लाख लोन कृषि क्षेत्र के लिए मंजूर किए गए, यह राशि 86,600 करोड़ रुपये है।