Big Change: मई का महीन शुरू हो चुका है. 1 मई से कई ऐसे नियमों में बदलाव होने जा रहा है, जिसका सीधा असर आपकी जेब पर पड़ेगा। इसमें क्रेडिट कार्ड बिल पेमेंट से लेकर सेविंग अकाउंट में मिनिमम बैलेंस तक कई नियम बदल जाएंगे। आइये देखते हैं इसकी पूरी लिस्ट.

1 मई से क्रेडिट कार्ड यूजर्स पर बोझ बढ़ने वाला है। यस बैंक और आईडीएफसी फर्स्ट बैंक ने घोषणा की है कि 1 मई से क्रेडिट कार्ड के जरिए यूटिलिटी बिल का भुगतान करने पर ग्राहकों को 1 फीसदी अतिरिक्त चार्ज देना होगा। हालांकि, यस बैंक के लिए 15,000 रुपये और आईडीएफसी फर्स्ट बैंक के लिए 20,000 रुपये के मुफ्त भुगतान की सीमा है।

अगर आप आईडीएफसी फर्स्ट सिलेक्ट क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल करते हैं तो 1 मई से आपको हर तिमाही में 4 की जगह सिर्फ 2 फ्री लाउंज एक्सेस ही मिलेंगे

1 मई से ICICI बैंक के ग्राहकों के लिए कई सेवाएं महंगी हो जाएंगी. डेबिट कार्ड के लिए ग्राहकों को 200 रुपये सालाना चार्ज देना होगा. ग्रामीण इलाकों में यह 99 रुपये प्रति साल है. इसके अलावा चेक बुक और IMPS के लिए भी ज्यादा चार्ज देना होगा.

यस बैंक के ग्राहकों को अब अपने बचत खाते में 25,000 रुपये का न्यूनतम बैलेंस बनाए रखना आवश्यक है। अलग-अलग बचत खातों के लिए यह सीमा अलग-अलग है. ग्राहकों के लिए यह नियम 1 मई से लागू हो रहा है.

हर महीने की पहली तारीख को तेल कंपनियां 14 किलो और 19 किलो वाले एलपीजी सिलेंडर की कीमतें तय करती हैं। चुनावी माहौल में सरकारी तेल बाजार कंपनियों ने सिलेंडर के दाम कम कर दिए हैं. एलपीजी सिलेंडर की नई कीमत आज यानी 1 मई से पूरे देश में लागू हो गई है। ओएमसी ने 19KG वाणिज्यिक एलपीजी सिलेंडर की कीमत 19 रुपये कम कर दी है। हालांकि, घरेलू एलपीजी सिलेंडर की कीमत में कोई बदलाव नहीं हुआ है।

Recent Posts