महिंद्रा की स्कॉर्पियो-एन (Mahindra Scorpio-N) को ग्राहकों की शानदार प्रतिक्रिया मिल रही है. 30 जुलाई को इसकी बुकिंग शुरू हुई और तभी से ग्राहक इसे बुक करने के लिए जुट गए. इसे एक घंटे में ही 1 लाख बुकिंग मिल गई. कोई भी गाड़ी परफेक्ट(car perfect) नहीं होती. ऐसे में ढेरों खूबियां होने के साथ महिंद्रा की Scorpio-N में भी कुछ कमियां हैं. अगर आप भी महिंद्रा की नई स्कॉर्पियो-एन बुक(scorpio-n book) करने की सोच रहे हैं तो पहले इस SUV की 5 खामियों के बारे में जान लेते हैं।

 

थर्ड रॉ का स्पेस

3 रॉ वाली एसयूवी के साथ इस तरह की समस्या रहती ही है. कंपनियां भले ही कुछ भी दावा करें, लेकिन तीसरी पंक्ति में बैठने वाले यात्रियों को लेग रूम के साथ समझौता करना ही पड़ता है. ऐसा ही कुछ महिंद्रा स्कॉर्पियो-एन के साथ भी है. इसकी सबसे पीछे वाली सीट्स आमतौर पर बच्चों के लिए ठीक रहती हैं. व्यस्क यहां बैठकर लंबी दूरी की यात्रा नहीं कर पाएंगे.

 

बूट स्पेस

7 सीटर गाड़ियों के साथ बूट स्पेस की भी समस्या रहती है. स्कॉर्पियो एन में भी आपको बेहद लिमिटेड बूट स्पेस दिया गया है. यह बड़ी कार है, जो खास तौर पर लॉन्ग ट्रिप्स के लिए हैं. लेकिन छह और सात लोगों के बैठने के बाद इसमें सामान के लिए ज्यादा जगह नहीं बचेगी. हालांकि आप रूफ का इस्तेमाल कर सकते हैं.