नई दिल्लीः देश में पेट्रोल-डीजल के दाम लगातार सातवें आसमान पर पहुंचते जा रहा हैं, जिससे आम लोग के साथ-साथ हर वर्ग परेशान हैं। पेट्रोल की कीमत ने कुछ राज्यों में शतक पूरा कर लिया है, जिससे सरकार पर लगातार सवाल उठ रहे हैं। दूसरी ओर दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने मंत्रियों और अधिकारियों को लेकर एक बड़ा ऐलान कर दिया है।

दिल्ली सरकार ने सभी कारों को इलेक्ट्रिक गाड़ी में बदलने का निर्णय किया है। दिल्ली सरकार के मंत्री या अधिकारी अब आने जाने के लिए इलेक्ट्रिक कारों का इस्तेमाल करेंगे। सभी कारों को 6 महीने के अंदर बदला जाएगा। साथ ही सरकार ने इलेक्ट्रिक वाहनों की चार्जिंग को लेकर लोगों की आशंकाओं को दूर करने के लिए जमीन पर काम करना शुरू कर दिया है। दिल्ली में पहले से ही 70 से अधिक सार्वजनिक चार्जिंग स्टेशन चालू हैं। इसके अतिरिक्त 100 स्थानों पर जल्द ही 500 और चार्जिंग पॉइंट शुरू होने जा रहे हैं।

परविहन मंत्री कैलाश गहलोत ने कहा कि दिल्ली सरकार ने अपनी सभी कारों को इलेक्ट्रिक में बदलने की शुरुआत कर इस अभियान का नेतृत्व किया है। दिल्ली सरकार के अधिकारियों के आवागमन के लिए उपयोग की जाने वाली सभी लीज या किराए पर ली गई कारों को छह महीने की अवधि के अंदर इलेक्ट्रिक में परिवर्तित कर दिया जाएगा।

उन्होंने कहा हम दिल्ली को प्रदूषण मुक्त बनाने के लिए प्रतिबद्ध हैं। यह लक्ष्य केवल लोगों के सहयोग और भागीदारी से ही हासिल किया जा सकता है। मैं सभी दिल्ली वालों से जो नया चार पहिया वाहन खरीदने की योजना बना रहे हैं, उनसे आग्रह करता हूं कि वो स्वच्छ, हरित इलेक्ट्रिक वाहन खरीदें।

रविवार को दिल्ली के परिवहन मंत्री कैलाश गहलोत ने चार पहिया वाहनों के मालिकों से इलेक्ट्रिक वाहन खरीदने की अपील की है। इस सप्ताह हम दिल्लीवासियों को पेट्रोल या डीजल वाहनों के मुकाबले ईवी चार पहिया वाहनों के लाभों से अवगत कराएंगे। दिल्ली की ईवी नीति के तहत इलेक्ट्रिक वाहन खरीदने पर कई ऑफर दिए जा रहे हैं।

बता दें कि दिल्ली वायु प्रदूषण को मात देने के लिए इलेक्ट्रिक चार पहिया वाहन खरीद पर प्रोत्साहन देने वाला देश का पहला राज्य है। कैलाश गहलोत ने कहा कि दिल्ली ईवी नीति के तहत 3 लाख रुपये तक की प्रोत्साहन राशि प्रदान की जाती है, जिसमें 1.5 लाख सब्सिडी, पंजीकरण और रोड टैक्स छूट शामिल है।

Recent Posts