Aaj Ka kark rashi 4 February 2021:  कर्क राशि – कुछ नया ख़रीदने से पहले उन चीज़ों का इस्तेमाल करें, जो पहले से आपके पास हैं। माता-पिता की सेहत पर ज़्यादा ध्यान दें। रुमानी संबंध को बढ़ावा मिलेगा. आपको बढ़िया परिणामों को पाने के लिए अपनी तरफ़ से बेहतरीन प्रयास करने की आवश्यकता है। बातचीत करते वक़्त अपने शब्दों को ग़ौर से चुनें।

आज दिनांक 4 फरवरी 2021 तिथि, नक्षत्र, सूर्योदय, सूर्यास्त, शुभ समय कब से कब तक है, अशुभ समय कब है, राहु काल की जानकारियां, आज का पर्व त्यौहार फरवरी ४, २०२१ पंचांग और शुभ मुहूर्त की विस्तृत जानकारियां।

बृहस्पतिवार4 फरवरी 2021 का पंचांग

तिथि सप्तमी 12:07 PM तक उसके बाद अष्टमी
नक्षत्र स्वाती 07:45 PM तक उसके बाद विशाखा
पक्ष कृष्ण पक्ष
माह माघ
सूर्योदय 06:40 AM
सूर्यास्त 05:44 PM
चंद्रोदय 12:26 AM, Feb 05
चन्द्रास्त 11:08 AM

Auspicious Timings : आज का शुभ समय जिसमे शुभ मुहूर्त किया जा सकता है। आज दिनांक बृहस्पतिवार, 4 फरवरी 2021 का शुभ टाइम। अगर कोई शुभ कार्य करने जा रहे हैं तो अभिजीत समय में करें। उसके बाद अन्य में कर सकते हैं जब अभिजीत का समय नहीं हो तो।

अभिजीत मुहूर्त 11:50 AM से 12:34 PM
अमृत काल मुहूर्त 11:28 AM से 12:58 PM
विजय मुहूर्त 02:03 PM से 02:47 PM
गोधूलि मुहूर्त 05:33 PM से 05:57 PM
सायाह्न संध्या मुहूर्त 05:44 PM से 07:02 PM
निशिता मुहूर्त 11:46 PM से 12:38 AM, Feb 05
ब्रह्म मुहूर्त 04:56 AM, Feb 05 से 05:47 AM, Feb 05
प्रातः संध्या 05:22 AM, Feb 05 से 06:39 AM, Feb 05

Inauspicious Timings : आज का अशुभ समय जिसमे शुभ कार्य नहीं किया जा सकता है। आज दिनांक बृहस्पतिवार, 4 फरवरी 2021 का अशुभ समय।

दुष्टमुहूर्त 10:21:24 से 11:05:41 तक, 14:47:03 से 15:31:20 तक
कालवेला / अर्द्धयाम 16:15:36 से 16:59:53 तक
गुलिक काल 09:26:04 से 10:49:05 तक
यमगण्ड 06:40:01 से 08:03:02 तक
भद्रा कोई नहीं है
गण्ड मूल कोई नहीं है

विशेष मुहूर्त और योग : 

कुछ शुभ मुहूर्त होते हैं जैसे सर्वार्थसिद्धि, अमृतसिद्धि, गुरुपुष्यामृत और रविपुष्यामृत योग। जब किसी कार्य को करना हो और मुहूर्त उस समय नहीं हो तो इन विशेष योग या महूर्त में शुभ कार्य किया जाता है।

यदि सोमवार के दिन रोहिणी, मृगशिरा, पुष्य, अनुराधा तथा श्रवण नक्षत्र हो तो सर्वार्थसिद्धि योग का निर्माण होता है। शुभ मुहूर्तों में सर्वश्रेष्ठ मुहूर्त माना जाता है- गुरु-पुष्य योग। यदि गुरुवार को चन्द्रमा पुष्य नक्षत्र में हो तो इससे पूर्ण सिद्धिदायक योग बन जाता है। जब चतुर्दशी सोमवार को और पूर्णिमा या अमावस्या मंगलवार को हो तो सिद्धिदायक मुहूर्त होता है।

आज का शुभ योग जिसमे कोई भी मुहूर्त किया जा सकता है। ये योग बहुत ही शुभ होते है किसी भी शुभ कार्य को करने के लिए।

Shubh Muhurat – 4 February 2021

अभिजीत मुहूर्त 11:50 AM से 12:34 PM
सर्वार्थ सिद्धि योग कोई नहीं है
अमृत सिध्दि योग कोई नहीं है
रवि योग कोई नहीं है
द्विपुष्कर योग कोई नहीं है
त्रिपुष्कर योग कोई नहीं है

आज का व्रत / पर्व त्यौहार फरवरी ४, २०२१ हिंदू पंचांग और कैलेंडर के अनुसार

स्वामी विवेकानंद जयंती, कालाष्टमी

Recent Posts