home page

रसोई घर में रखे जाने वाले फ्रिज समेत अन्य इलेक्ट्रॉनिक उपकरण को सही जगह रखने से हो सकती है आप पर माता लक्ष्मी की कृपा।

हिंदू धर्म में वास्तु शास्त्र की बहुत मान्यता है। लोग नया घर बनवाने से पहले वास्तुशास्त्र के जानकारों से सलाह जरूर लेते हैं, कि कहां कैसे क्या बनवाना ज्यादा उचित होगा। अगर आप भी घर सिफ्ट करने वाले हैं तो एक बार इस वास्तु टिप्स को जरूर पढ़ ले, ताकि बिना वास्तु सलाहकार के आप
 | 
रसोई घर में रखे जाने वाले फ्रिज समेत अन्य इलेक्ट्रॉनिक उपकरण को सही जगह रखने से हो सकती है आप पर माता लक्ष्मी की कृपा।
रसोई घर में रखे जाने वाले फ्रिज समेत अन्य इलेक्ट्रॉनिक उपकरण को सही जगह रखने से हो सकती है आप पर माता लक्ष्मी की कृपा।

हिंदू धर्म में वास्तु शास्त्र की बहुत मान्यता है। लोग नया घर बनवाने से पहले वास्तुशास्त्र के जानकारों से सलाह जरूर लेते हैं, कि कहां कैसे क्या बनवाना ज्यादा उचित होगा। अगर आप भी घर सिफ्ट करने वाले हैं तो एक बार इस वास्तु टिप्स को जरूर पढ़ ले, ताकि बिना वास्तु सलाहकार के आप सही फैसला ले पाए।  तो आइए जानते हैं कि किचन में किस इलेकिट्रॉनिक उपकरण को कहां रखने से माता लक्ष्मी की आप पर विशेष कृपा बनेगी।

किचन में पीने का पानी, हाथ या बर्तन धोने के लिए नल ईशान कोण में होना शुभ माना गया है। इसके अलावा किचन में सिंक यानि बर्तन धोने के लिए उत्तर-पश्चिम की दिशा वास्तु शास्त्र में शुभ मानी गई है।

किचन में खाली सिलेंडर नैऋत्य कोण (दक्षिण-पश्चिम) में रखना चाहिए, जबकि उपयोग में आने वाला सिलेंडर दक्षिण दिशा की ओर रखना शुभ होता है। इसके अलावा किचन में चावल, आटा, दाल, मसाले के डिब्बे, बर्तन आदि दक्षिण या दक्षिण-पश्चिम दिशा में रखना शुभ होता है।

किचन में टोस्टर, गीजर, माइक्रोवेव ओवन आग्नेय कोण में रखना चाहिए। जबकि मिक्सर, जूसर, आदि आग्नेय कोण के समीप दक्षिण दिशा में रखना चाहिए।वास्तु शास्त्र के मुताबिक अग्नि तत्व से किचन का संबंध है। ऐसे में किचन का अग्नि कोन में होना बेदह जरूरी है. पूरब और दक्षिण के कोन को आग्नेय या अग्नि कोन कहते हैं। अग्नि के रजस गुण के कारण यह दिशा किचन के लिए सबसे उपयुक्त मानी गई है। यदि इस दिशा में किचन बनवाना संभव न हो तो उत्तर-पश्चिम के कोन में रसोई बनवाई जा सकती है।

अगर किचन में काले रंग का पत्थर लगा हुआ है तो इसके निगेटिव एनर्जी के दुष्प्रभाव से बचने के लिए रसोई में स्वास्तिक का चिह्न बना सकते हैं। इसके किचन का वातावरण सकारात्मक हो जाता है।