Devshayani Ekadashi Vishnu God is going to sleep, will sleep after four months, do not forget the auspicious work and do auspicious work,Devshayani Ekadashi विष्णु भगवान जा रहे सोने, चार महीने बाद खुलेगी नींद, शुभ काम भूलकर भी ना करें शुभ काम

(Devshayani Ekadashi 2020): हिंदू धर्म में अषाढ़ माह के शुक्ल पक्ष की काफी महिमा बताई गई है। इसे देवशयनी एकादशी (हरिशयनी एकादशी) कहा जाता है। साथ ही 1 जुलाई को देवशयनी एकादशी पड़ रही है। वहीं मान्यता है कि इस दिन से भगवान विष्णु सोना शुरू करते हैं और फिर चार महीने बाद यानी कि देवप्रबोधिनी एकादशी के दिन कार्तिक माह की शुक्ल पक्ष की एकादशी को पड़ती है।

मान्यता है कि शादी, विवाह और धर्म से संबंधित अन्य संस्कार करने की मनाही होती है। इस दिन संन्यास आश्रम ग्रहण कर चुके लोगों का चातुर्मास्य व्रत शुरू होता है।

मान्यता है कि भगवान विष्णु आषाढ़ माह की शुक्ल पक्ष की एकादशी को विश्राम में चले जाते हैं। इसे देवशयनी एकादशी की संज्ञा दी गई है।

विष्णु भगवान जब चार महीने बाद जागते है तो माना जाता है देवी देवता स्वर्ग से पुष्प वर्षा करते हैं। इस दौरान लोग मांगलिक कार्यों को करने पर जोर देते हैं। क्योंकि ऐसी मान्यता है कि इस समय जो भी काम होत होता है। वो शुभ फलदायी होते हैं।

देवशयनी एकादशी के लक्ष्मी जी की पूजा गणेश जी के साथ की जाती है। सभी देवी देवताओं ने भगवान विष्णु और मां लक्ष्मी की आरती की।